Patrika Hindi News

> > > > Sun Constellation pushya Preparations complete, the market readied

रवि पुष्य नक्षत्र की तैयारियां पूरी, सज गए बाजार

Updated: IST deepawali
दीपावली का बाजार आज भी सर्वार्थ सिद्धि और रवि योग

दमोह।दीपावली के पहले आने वाले खरीदी के लिए सबसे शुभ नक्षत्र रवि पुष्य नक्षत्र के पहले भी आप बेहिचक खरीदी कर सकते है। यह पूरा महीना खरीदी के लिए शुभ है। इसकी तैयारी बाजार में भी पहले से कर ली गई है। कपड़ा, सोना, चांदी, वर्तन सहित अन्य दुकानों पर रौनक दिखने लगी है, जबकि लोगों ने भी खरीदारी शुरू कर दी है।

बुधवार को बाजार का जायजा लेने पर देखा गया कि विभिन्न पेशों के व्यापारियों द्वारा नए स्टॉक के साथ दुकानों को पूरी तरह भर लिया है। खरीदारों को आकर्षिक करने के लिए तरह-तरह के ऑफर भी दुकानों पर दिए जा रहे है, जबकि बाजार में काफी रौनक देखने मिल रही है। आभूषण बाजार हो या, कपड़ा, ऑटोमोविल्स हो गया बर्तन सभी जगह रवि पुष्य नक्षत्र को लेकर तैयारियां पूरी हो चुकी है। इधर घरों में भी खरीदी की जोरदार प्लानिंग लोगों द्वारा की जा रही है। इस बार उपहार भी वेस्ट हो, इसका ध्यान भी रखा जाएगा। पटाखों का स्टॉक भी शहर के अलावा बाहरी क्षेत्रों में किया जा चुका हैं, जिसकी दुकानें भी तहसील ग्राउंड पर जल्द सजाई जाएगी।

पंडित मणिशंकर मिश्रा ने बताया कि वीवल्स योग, अहोई अष्टमी, कालाष्टमी व सूर्य बुध के होने से इतने योग बन रहे है। दीपावली के 8 दिन और धनतेरस के 6 दिन पहले 23 अक्टूबर रविवार को रवि पुष्य नक्षत्र का महासंयोग बन रहा है। इन दिन खरीदारी का विशेष महत्व होगा। यह नक्षत्र 15 घंटे का रहेगा। पुष्य नक्षत्र का धातु सोना है, जिसे खरीदने से वस्तु भविष्य में दोगुनी व तिगुनी हो जाती है। इस योग के रहते कोई वस्तु बेचनी नहीं चाहिए, क्योंकि भविष्य में वस्तु दोगुनी या तीन गुनी बेचनी पड़ सकती है।

आज से 23 तक भी खरीदी शुभ
20 अक्टूबर- सर्वार्थ सिद्धि, रवि योग
21 अक्टूबर- रवि योग
22 अक्टूबर- शनि पुष्य योग
23 अक्टूबर- रवि पुष्य योग
------

पुष्य नक्षत्र का समय
22 अक्टूबर को रात्रि 8.41 बजे प्रारंभ होगा, जो 23 को रात्रि 8.41 तक रहेगा। दीपावली के 8 दिन पहले पुष्य नक्षत्र दीपावली के पूर्व धनतेरस अबूझा मुहूर्त वाला दिन माना जाता है, लेकिन इस बार 23 अक्टूबर को रवि पुष्य नक्षत्र योग रहेगा, जो खरीदी के लिए शुभ व समृद्धिकारक माना जाता है। दीपावली से 8 और धनतेरस से 6 दिन पहले रविवार को रवि पुष्य नक्षत्र का संयोग बन रहा है।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!

Latest Videos from Patrika

More From Damoh
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???