Patrika Hindi News

टाईगर रिजर्व वीटीआर में बाघ शावकों की आहट

Updated: IST Valmikinagar Tiger Reserve
निदेशक ने कहा कि अगर सबकुछ ठीक-ठाक रहा तो इस बार की गणना में बाघों की संख्या में अच्छी-खासी बढ़ोतरी दर्ज होगी।

दरभंगा/वाल्मीकिनगर। बिहार का इकलौता टाईगर रिजर्व वीटीआर इन दिनों बाघ शावकों की आहट से गदगद है। बाघों की गिनती के लिए लगे कैमरा ट्रैप में कई जगह बाघों के साथ उनके शावक भी दिख रहे हैं। इससे यहां बाघों की संख्या में इजाफे की संभावना प्रबल है।

वीटीआर का वन प्रशासन गदगद है। वह इसे शुभ संकेत मान रहा है। फिलहाल वीटीआर के वन प्रमंडल एक व दो के पांच वन क्षेत्रों में बाघ के शावकों के होने की जानकारी मिल रही है। वीटीआर के निदेशक राजवंश सिंह ने बताया कि केन्द्र सरकार के वन मंत्रालय के आदेश के आलोक में वीटीआर समेत पूरे देश के रिजर्व और आश्रयणीय क्षेत्रों के जंगलों में बाघों की गिनती चल रही है।

इसके लिए वीटीआर में जगह-जगह कैमरा ट्रैप लगाए गए हैं। करीब एक पखवारे से रिजर्व के दोनों प्रमंडलों में बाघों की गिनती शुरू है। वन क्षेत्रों में लगे कैमरा ट्रैप में कई नए बाघ शावकों के चेहरे कैद हुए हैं। उन्होंने बताया कि प्रमंडल दो के वन क्षेत्रों में पहले से बाघों की गतिविधि जानने के लिए कैमरा ट्रैप लगाए गए हैं।

बाघों के प्रजनन के लिए अनुकूल है यह मौसम

अब तक मिल रहे संकेतों से स्पष्ट हो रहा है कि यहां बाघों की संख्या में और अधिक इजाफा होगा। श्री सिंह ने वन क्षेत्रों के नाम बताने से परहेज करते हुए कहा कि वन प्रमंडल एक के दो व दो के तीन वन क्षेत्रों में बाघ शावक देखे गए हैं। कई वन क्षेत्रों में बाघिन के साथ दो-दो शावक दिख रहे हैं।

उन्होंने बताया कि यह मौसम बाघों के प्रजनन के लिए अनुकूल माना जाता है। निदेशक ने कहा कि अगर सबकुछ ठीक-ठाक रहा तो इस बार की गणना में बाघों की संख्या में अच्छी-खासी बढ़ोतरी दर्ज होगी। गिनती कार्य की मॉनिटरिंग वन प्रमंडल एक और दो के डीएफओ आलोक कुमार व अमित कुमार कर रहे हैं।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!

Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???