Patrika Hindi News

गंदगी को देख जताई नाराजगी

Updated: IST pahuj river
उनाव बालाजी में मेले से पहले एडीएम व एसपी ने किया निरीक्षण

उनाव/दतिया. मकर संक्रांति पर प्रतिवर्ष उनाव बालाजी मंदिर पर आयोजित होने वाले मेले के लिए की जा रही तैयारियों का जायजा लेने के लिए एडीएम अशीष कुमार गुप्ता एवं एसपी इरशाद वली शुक्रवार को उनाव बालाजी मंदिर पहुंचे। जहां उन्होंने हर तरफ फैली गंदगी को देखकर नाराजगी जाहिर की। मेले के लिए सुरक्षा व्यवस्था पुख्ता करने के लिए मंदिर में लगे सीसीटीवी कैमरे चालू कराने के निर्देश थाना प्रभारी राजेश सातनकर को दिए।

शुक्रवार को मेले की तैयारियों को जायजा लेने पहुंचे एडीएम व एसपी ने नदी व मंदिर में फैली गंदगी को देखकर सपरंच लक्ष्मण सिंह यादव एवं मंदिर समिति पर खासी नाराजगी जताई। उन्होंने कहा कि नदी में फैली गंदगी को तत्काल प्रभाव से साफ किया जाए। जिससे श्रद्धालुओं को स्नान आदि करते समय गंदगी के चलते कोई परेशानी न हो। वहीं नदी पर किसी भी प्रकार का हादसा न हो इसके लिए सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए जाएं। वहीं नदी पर गोताखोरों की व्यवस्था भी की जाए। इस दौरान इरशाद वली ने कहा कि मंदिर में भीड़ पर नियंत्रण रखें ताकि किसी भी प्रकार हादसा न हो। साथ संदिग्ध लोगों पर भी नजर रखें। मेले में लगभग 20 हजार श्रद्धालुओं के आने की संभावना है।

सीसीटीवी कैमरे कराएं चालू

तैयारियों का जयजा लेने पहुंचे उच्च अधिकारियों ने मंदिर समिति व थाना प्रभारी को निर्देश दिए कि मेले के दौरान सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम करें। मंदिर में लगे सीसीटीवी कैमरों को चालू करवाएं। जिससे मंदिर में चल रहे क्रियाकलापों पर आसानी से नजर रखी जा सके। वहीं असमाजिक तत्वों को भी आसानी से पहचान कर उन पर निगरानी की जा सके।

नदी पर लगवाई जालियां

नदी पर स्नान के लिए आने वाले श्रद्धालुओं की सुरक्षा को देखते हुए पाइप व रैलिंग लगाई जा रहीं है। जिससे कि नदी पर स्नान करने वाली भीड़ पर आसानी से नियंत्रण किया जा सके। वहीं सुरक्षा की दृष्टी से नदी के घाट पर पर्याप्त बल भी तैनात किया जाएगा। वहीं घाट पर डूबने आदि की घटना पर अंकुश लगाने के लिए 15 तैराकों को तैनात किया जाएगा।

पूर्व में भी हो चुके हैं हादसे

नदी में पूर्व मे भी लोगों के डूबने के हादसे हो चुके हैं। जिनमें 4 लोगों की मौत हो चुकी है। इसलिए इस बार 15 होमगार्ड तैराक तो तैनात रहेंगे ही। साथ ही नदी में वोट व अन्य सामान जो डूबने से बचाने के लिए उपयोग में लाया जाता है। वह भी मौके पर रखा जाएगा।

पार्किंग व्यवस्था रखें चुस्त

मेले के दौरान पार्किंग व्यवस्था को चुस्त रखें। और वाहनों को मंदिर से दूर चौराहे पर ही रोक दें। और वहीं पार्किंग करवाऐं। जिससे पैदल चल रहे श्रद्धालुओं को आने जाने में कोई परेशानी न हो। वाहनों को चौराहे से आगे मंदिर की ओर न आने दे।

अपने विवाह के सपने को भारत मैट्रीमोनी पर साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???