Patrika Hindi News

आक्रोशित किसानों ने फोरलेन किया बंद

Updated: IST Dewas
प्याज न तौलने को लेकर थे नाराज, अधिकारियों के आश्वासन के बाद हटे

सोनकच्छ. परिवहन के अभाव में समर्थन मूल्य पर प्याज खरीद रहे सोनकच्छ सहकारी विपणन संस्था द्वारा जगह नहीं होने से सोमवार को प्याज खरीदी नहीं की गई, जिससे आक्रोशित किसानों ने शाम करीब 7.25 बजे कृषि उपज मंडी के पीछे फोरलेन पर प्याज से भरी बोरियां रोड पर रख मार्ग बंद कर दिया। सूचना पर एसडीएम नीरज खरे, तहसीलदार पल्लवी पुराणिक, एसडीओपी बीएस कदम, टीआई केके सिंह पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे और करीब 15 मिनिट तक किसानों से बातचीत के बाद उन्हें मंगलवार से खरीदी करने का आश्वासन दिया। तब कहीं जाकर किसान रोड से हटे। जाम के दौरान रोड के दोनों ओर वाहनों की लंबी कतार लग गई थी, जिससे यात्रियों को परेशानी का सामना करना पड़ा। उधर, तौली गई उपज का परिवहन नहीं होने से मंडी परिसर स्थित नीलामी के प्लेटफार्म प्याज की बोरियो से भरे पड़े हैं। खरीदी नहीं होने से मंडी परिसर में लगभग 300 तथा फोरलेन पर दोनों ओर सैकड़ों ट्रैक्टर ट्रॉलियां खड़ी हुई हैं, जिससे यातायात प्रभावित हो रहा है।
रैक लगने के बाद शुरू होगी खरीदी
मंगलवार को देवास में रेलवे का रैक लगेगा, उसके बाद खरीदी चालू कर दी जाएगी। किसानों को समझा दिया है, जिसके बाद मार्ग चालू हो गया है।
-पल्लवी पुराणिक, तहसीलदार सोनकच्छ

परिवहन नहीं होने से खरीदी नहीं की
परिवहन नहीं होने के कारण प्याज रखने की जगह नहीं है, इसलिए आज खरीदी बंद रखी गई थी। जैसे ही परिवहन चालू होगा, खरीदी चालू कर दी जाएगी।
-महेंद्रसिंह, प्रबंधक सोनकच्छ सहकारी विपणन संस्था

ट्रैक्टर लगे खेत में, कैसा लाएं उपज?
देवास. बालगढ़ के वेयर हाउस पर सोमवार सुबह किसान प्याज लेकर पहुंचे। जहां बताया गया कि सिर्फ ट्रैक्टर में लाए प्याज ही खरीदे जाएंगे। इसके बाद किसान आक्रोशित हो गए। किसानों का कहना था कि ट्रैक्टर तो है, लेकिन उनमें प्याज के कट्टे कम आते हैं, वहीं अभी खेतों में ट्रैक्टरों का काम जरूरी है।
सरकारी निर्देश के बाद आठ रुपए किलो में प्याज खरीदा जा रहा है। जिलेभर में प्याज की बंपर आवक हुई है। आंदोलन के बाद सरकार ने खरीदी का ऐलान किया था। खरीदी के लिए प्रक्रिया को इतना सख्त बना दिया है कि किसान परेशान हो रहा है। दो दिन के लंबे इंतजार के बाद प्याज खरीदा जा रहा है। वहीं नए आदेश के बाद सोमवार को दूर-दूर से आयशरों में प्याज की कट्टी लेकर आए किसान परेशान होते रहे। बड़ी चुरलाई के राकेश परमार के पास 100 बीघा जमीन है। वे 200 कट्टी प्याज लेकर आयशर से आए थे। उन्होंने बताया कि जब वे प्याज बेचने आए तो कहा गया कि आयशर से आया प्याज नहीं लिया जाएगा। उन्होंने बताया कि ट्रैक्टर में कट्टी कम आती है और उसका किराया भी ज्यादा लगता है। उनका कहना है कि मेरे पास तीन टै्रक्टर हंै, लेकिन वह सभी खेतों में काम कर रहे हैं। ऐसी स्थिति में वे आयशर से उपज लेकर आए। उन्होंने बताया कि आज भी उनके पास पांच हजार प्याज की कट्टी घर पर है। जिसे वे बार-बार टैक्टर से कैसे ला पाएंगे। इलास खेड़ी के राजपालसिंह ने बताया, उनका घर देवास से 70 किमी दूर है। 11 हजार रुपए में आयशर किराए पर लेकर वे 200 कट्टी लादकर लाए थे, जिसे खरीदा नहीं जा रहा है।
पानी तक की व्यवस्था नहीं
शहर दूर बालगढ़ वेयर हाउस पर खरीदी की जा रही है। किसान कमलसिंह, अजय गिरी मुंडला ने बताया, यहां पर खाना तो दूर पानी तक नसीब नहीं हो रहा है। कई किसान जल्दी नंबर आने के चक्कर में रविवार की रात से आ गए हैं। किसानों की भीड़ देखते हुए चाय की कीमत पांच से बढ़ाकर 10 रुपए कर दी है। मौके पर जितने किसान थे, सभी के पास जमीन की पावती मौजूद थी।
6 में लेकर 8 में बेचने का गणित
किसानों ने बताया, कुछ व्यापारी भी सक्रिय हो गए हैं। बताया जाता है प्याज का लागत मूल्य ही 5 रुपए किलो है। अब सरकारी खरीदी में आठ रुपए मिल रहा है। इस लिहाज से देखा जाए तो किसान के सिर्फ तीन रुपए प्रति किलो ही फायदा मिल रहा है। जानकारी के मुताबिक कुछ व्यापारी भी सक्रिय हो गए हैं, जो 6 रुपए किलो में प्याज खरीद कर 8 रुपए किलो में सरकार को बेच रहे हैं। किसानों ने कहा कि किसी ने भी व्यापारी को 6 रुपए किलो में प्याज नहीं बेचा है। किसानों के मुताबिक सरकार जब 8 रुपए में खरीदी कर रही है तो व्यापारी को प्याज क्यों बेचें।
अब किसानों के फोटो भी लेंगे
उधर, सोमवार को कलेक्टर आशुतोष अवस्थी ने टीएल की बैठक में खरीदी के लिए निर्देश दिए। उन्होंने बताया कि खरीदी केंद्रों पर ट्रैक्टर ट्रॉली में प्याज लाने वाले किसानों से प्याज खरीदा जाए। किसानों की आड़ में अन्य व्यक्तियों के प्याज विक्रय की आशंका को देखते हुए ट्रक अथवा आयशर वाहन में प्याज लाने पर किसी भी स्थिति में खरीदी नहीं की जाए। प्याज विक्रय के लिए आने वाले किसान के आधार नंबर देखें एवं किसान का फोटो भी खिंचवाएं।

अपने विवाह के सपने को भारत मैट्रीमोनी पर साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???