Patrika Hindi News

उद्योग फिर से छोड़ रहे केमिकलयुक्त पानी

Updated: IST Dewas
सिंहस्थ में सख्ती के दौरान नदी सूख गई थी

देवास. उद्योगों से निकलने वाले केमिकलयुक्त पानी पर उज्जैन सिंहस्थ के दौरान प्रदेश सरकार ने पूरी तरह से रोक लगा दी थी। इतनी सख्ती कर दी थी कि उद्योगों के बीच में से निकलने वाली नागधम्मन नदी का पानी सूख गया था। सिंहस्थ के बाद से ही फिर कुछ कंपनियों के द्वारा केमिकलयुक्त पानी धड़ल्ले से छोड़ा जा रहा है। शहर के राजीवनगर बिंजाना के रहवासी इसकी बदबू से परेशान हो गए हैंं।
वार्ड 16 राजीव नगर पार्षद प्रतिनिधि मोहनलाल शर्मा, धर्मेंद्र, सुनील, महेंद्र व मुकेश चंद्रवाल ने बताया कि सुबह व शाम को नदी में कंपनियों के द्वारा इतना पानी छोड़ दिया जाता है कि सांस लेना दुभर हो जाता है। सिहंस्थ के दौरान नदी में पानी नहीं आने से सभी लोग सूखी थे, लेकिन सिंहस्थ खत्म होते ही फिर परेशानी शुरू हो गई। अगर गलती से नदी के पानी में पैर चला जाता है तो खूजली होने लगती है। नदी में छोड़े जा रहे केमिकलयुक्त पानी को बंद कर देना चाहिए।
इधर, एसोसिएशन ऑफ इंडस्ट्रीज देवास का दावा है कि सिंहस्थ से पहले प्रदूषण बोर्ड भोपाल के द्वारा पानी छोडऩे वाले उद्योगों के नाले मुहानों पर सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं। इन कैमरों की मदद से 24 घंटे भोपाल में बैठकर निगरानी की जा रही है। जब सीसीटीवी कैमरे लगे हैं तो नागधम्मन नदी में केमिकलयुक्त पानी कहां से आ रहा है। बताया जाता है कि जहां पर कैमरे लगे हैं, उस जगह को छोड़ अन्य जगह से पानी को बाले-बाले बहाया जा रहा है। इस पानी की वजह से प्रतिवर्ष बोरिंग का पानी खराब हो रहा है।
शिप्रा नदी में मिल रहा गंदा पानी
नागदा के उद्गम स्थल से शुरू हुई करीब 10 किमी की नागधम्मन नदी में उद्योगों का केमिकलयुक्त पानी ग्राम हवनखेड़ी स्थित शिप्रा नदी में मिल रहा है। शिप्रा में दो दिन पहले ही नर्मदा का पानी मकर संक्रांति पर्व क ो लेकर छोड़ा गया है। यह पानी हवनखेड़ी तक पहुंचने पर नागधम्मन नदी के पानी से गंदा हो रहा है। संक्रांति के दिन उज्जैन में श्रद्धालु केमिकलयुक्त गंदे पानी से स्नान करेंगे। इसके अलावा नागधम्मन नदी की वजह से राजीव नगर, सर्वोदय नगर, बिंजाना गदाईशा पीपल्या व बरेठी स्टॉप डैम का पानी भी खराब हो रहा है।

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ?भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???