DG Vanzara`s letter and the state Lokayukta issue

Related News

तोड़फोड़...झड़प...गिरफ्तारी

DG Vanzara`s letter and the state Lokayukta issue

print 
DG Vanzara`s letter and the state Lokayukta issue
9/7/2013 12:22:43 AM
अहमदाबाद। गुजरात प्रदेश कांग्रेस समिति के बैनर तले शुक्रवार को निलम्बित आईपीएस अधिकारी डी.जी. वंजारा के पत्र व राज्य में लोकायुक्त मुद्दे पर किए गए गुजरात बंद के आ±वान का अहमदाबाद समेत राज्यभर में मिला-जुला असर देखा गया।

आम जनता को बंद से कोई दिक्कत नहीं हो, इसके लिए सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए थे। राज्य पुलिस के अलावा राज्य आरक्षी बल (एसआरपी), त्वरित कार्य बल (आरएएफ) समेत 80 हजार कर्मचारियों को तैनात किया गया था। कई जगहों पर वाहनों पर पथराव कर कांच तोड़े गए, तो ट्रेन को रोकने का प्रयास भी किया गया। पथराव, जबरन स्कूल-कॉलेजों बंद करा रहे कांग्रेसी सांसद, विधायकों समेत कई नेताओं एवं कार्यकर्ताओं को पुलिस ने गिरफ्तार किया।
कांग्रेस सांसद व विधायक का अनशन
वहीं राजकोट में सांसद कुंवरजी बावलिया एवं विधायक अतुलभाई ने उपवास आंदोलन शुरू किया है। जहां कांग्रेस और अन्य पार्टियों ने बंद को सफल बताया, वहीं भाजपा ने पूरी तरह विफल बताया। बंद के दौरान पुलिस और कांग्रेसी कार्यकर्ताओं से साथ झड़पें भी हुईं, वहीं कांग्रेस और भाजपा कार्यकर्ता भी उलझते देखे गए। कांग्रेस ने ग्यारह वर्षो बाद बंद का आ±वान किया था।
स्कूल-कॉलेजों में तोड़फोड़
शहर के पूर्वी क्षेत्र नरोडा, सरसपुर, मणिनगर, असारवा, साबरमती समेत क्षेत्रों में सुबह स्कूल-कॉलेज खुले रहे, लेकिन बाद में कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने स्कूल-कॉलेज संचालकों को समझा-बुझाकर विद्यार्थियों की छुट्टी करवा दी। वहीं शहर के पश्चिमी क्षेत्र नवरंगपुरा, आंबावाडी, नवरंगपुरा, सेटेलाइट, वस्त्रापुर, जजेज बंगला एवं सरखेज -गांधीनगर हाइवे पर बंद बेअसर देखा गया।

व्यापारियों ने अपने प्रतिष्ठान आम दिनों की तरह ही खुले रखे। हालांकि कई जगहों पर सुरक्षा के मद्देनजर स्कूलों से बच्चों को छोड़ दिया गया। अहमदाबाद एवं दाहोद समेत कई क्षेत्रों में मुख्यमंत्री नरेन्द्र मोदी का पुतला फूंका गया।

अहमदाबाद में एएमटीएस एवं एस.टी. बस अड्डों पर कड़ी सुरक्षा व्यवस्था की गई थी। प्रत्येक चार रास्ते में पुलिस प्वाइन्ट लगाए गए थे। बापूनगर में शिखर कॉम्प्लेक्स के निकट मोटरसाइकिल से आए नकाबपोशों ने एएमटीएस बस पर पथराव कर शीशे तोड़ दिए तो सीटीएम चाररास्ता के निकट बीआरटीएस की बस के शीशे तोड़ दिए।
शाहपुर में शंकरभुवन के निकट एएमटीएस बस में तोड़फोड़ की गई। इसके चलते यात्रियों को खासी परेशानी का सामना करना पड़ा। हालांकि आम दिनों की तुलना में बीआरटीएस में पहले ही भीड़ कम चल रही थी। वहीं वेजलपुर में बुटभवानी के निकट कांग्रेसी कार्यकर्ता ट्रेन को रोकने का प्रयास कर रहे थे, लेकिन पुलिस ने मौके पर पहुंचकर इसे विफल बनाया। राजकोट समेत सौराष्ट्र में भी बंद का मिला-जुला असर रहा।
कच्छ में बेअसर
कच्छ में भुज में दुकानें, कार्यालय, पेट्रोल पम्प, ऑटोरिक्शा का बंद बेअसर रहा। दाहोद, छोटा उदेपुर, बनासकांठा, पाटण, पंचमहाल, महीसागर जिले में भी गुजरात बंद का मिला-जुला असर देखा गया। वडोरा, बनासकांठा, राजकोट, समेत कई इलाकों में टायर फूंक कर यातायात जाम कराया गया। गांधीनगर में एक कांग्रेसी महिला कार्यकर्ता की साड़ी खीचने पर मामला गरमाया और अहमदाबाद के पार्षद सुरेन्द्र बक्शी से झड़प होने पर रिलीफ रोड पर मुख्यमंत्री नरेन्द्र मोदी का पुतला फूंका गया।
सांसद-विधायक की गिरफ्तारी
राजकोट के जेतपुर को छोड़कर गोंडल, मोरबी में बंद का मिला-जुला असर रहा। प्रदेश कांग्रेस समिति के अध्यक्ष अर्जुन मोढवाडिया के गृह क्षेत्र पोरबंदर में सफल रहा। पोरबंदर में अर्जुन मोढवाडिया के भाई रामदेव मोढवाडिया की, जामनगर में सांसद विक्रम माडम, विधायक राघवजी पटेल की व्यापारिक प्रतिष्ठान बंद कराते समय गिरफ्तारी की गई। वहीं इस दौरान पुलिस व कांग्रेसी कार्यकर्ताओं में झड़प भी हुईं। इन इलाकों में स्कूल-कॉलेज बंद का असर दिखाई दिया।
रोचक खबरें फेसबुक पर ही पाने के लिए लाइक करें हमारा पेज -
अपने विचार पोस्ट करें

Comments
Top