Patrika Hindi News

CM शिवराज सिंह के नेतृत्व में ही भाजपा लड़ेगी 2018 का चुनाव

Updated: IST photo
भाजपा प्रदेशाध्यक्ष नंदकुमार सिंह चौहान और केंद्रीय मंत्री नरेंद्रसिंह तोमर ने स्पष्ट कर दिया कि भाजपा अगला चुनाव शिवराजसिंह चौहान के नेतृत्व में ही लड़ेगी।

मोहनखेड़ा. प्रदेश में नेतृत्व परिवर्तन को लेकर चल रही चर्चांओं के बीच मोहनखेड़ा में भाजपा प्रदेश कार्यसमिति की बैठक में भाजपा प्रदेशाध्यक्ष नंदकुमार सिंह चौहान और केंद्रीय मंत्री नरेंद्रसिंह तोमर ने स्पष्ट कर दिया कि भाजपा अगला चुनाव शिवराजसिंह चौहान के नेतृत्व में ही लड़ेगी।

दोनों ही नेताओं ने भाजपा कार्यसमिति में अपने भाषणों में ये साफ कहा कि अगले चुनावों में भाजपा के नेता शिवराजसिंह चौहान ही रहेंगे। वहीं भाजपा प्रदेशाध्यक्ष ने तो यहां तक कह दिया कि जिस तरह देश में मोदी के और प्रदेश में शिवराजसिंह चौहान के जैसा जननायक किसी भी पार्टी के पास नहीं है। जिनकी नीतियों को जनता वोट देती है और उनका समर्थन करती है।

अटेर की हार को दबा रही भाजपा
अटेर उपचुनावों में भाजपा को मिली हार को भाजपा के नेता दबाने में लग गए हैं। इन उपचुनावों को लेकर चल रहे विरोधों के बीच भाजपा ये जताने में लग गई है कि यहां पर भाजपा का जनाधार बढ़ा है। मोहनखेड़ा में हुई भाजपा कार्यसमिति की बैठक के दौरान भाजपा प्रदेशाध्यक्ष नंदकुमार सिंह चौहान ने राजनैतिक प्रस्ताव रखने के दौरान कहा कि बांधवगढ़ उपचुनाव में पार्टी की 25000 से जीत हुई है, लेकिन ये बात भी सही है कि अटेर में हमारी 800 से ज्यादा वोटों से हार हुई है, इसकी हम गहराई से समीक्षा करेंगे। लेकिन अटेर में पहले हम 11 हजार वोटों से हारे थे, अब केवल 850 वोटों से हारे हैं। यहां पर हमारा जनाधार बढ़ा है।

राजमाता का फोटो नहीं होने से भड़कीं यशोधराराजे
राजमाता विजियाराजे सिंधिया को लेकर दिए गए मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान के भाषण का असर भाजपा की प्रदेश कार्यसमिति में भी देखने को मिला। यहां पर भी मंत्री यशोधराराजे और माया सिंह अलग ही रही। वहीं यशोधराराजे प्रदेश कार्यसमिति की बैठक में राजमाता का फोटो तक नहीं होने से बूरी तरह से गुस्सा हो गईं। उन्होने इस बार अपनी नाराजगी सीधे केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर के सामने जाहिर कर दी।

भोजनावकाश के दौरान जैसे ही यशोधरा और तोमर का आमना-सामना हुआ। यशोधरा ने अपनी शिकायत दर्ज करा दी। उन्होंने तोमर को पूरे आयोजन स्थल का नजारा दिखाते हुए कहा, कहा आप तो उनके भाई थे न बताएं यहां पर कहां अम्मा साहब (राजमाता विजयराजे सिंधिया) की फोटो लगी है। उनकी तो फोटो तक हटा दी गई है। वरिष्ठ नेता शंकरलाल तिवारी ने स्थिति को संभाला और यशोधराराजे को शांत किया।

वहीं नगरीय प्रशासन मत्री मायासिंह भी भाजपा के प्रदेश नेतृत्व और मुख्यमंत्री से नाराज दिखीं। वहीं यशोधरा देरी से आईं और सबसे पीछे की ओर अपने समर्थकों के साथ बैठी रहीं। गौरतलब है कि पूरे कार्यक्रम स्थल पर मुख्यमंत्री प्रदेश अध्यक्ष नरेंद्रसिंह तोमर, केंद्रीय मंत्री थावरचंद गेहलोद, नरेंद्रसिंह तोमर आदि के फोटो लगे थे। वहीं पूरे सभास्थल को कुशाभाऊ ठाकरे, पंडित दीनदयाल और श्यामाप्रसाद मुखर्जी के पोस्टर बैनर और फोटो से सजाया गया था।

मुख्यमंत्री ने भावी आचार्य को कांबली ओढ़ाकर किया अभिनंदन
मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान एवं भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष नंदकुमारसिंह चौहान सहित भाजपा के कई वरिष्ठ मंत्री, विधायक ने मोहनखेड़ा महातीर्थ के आदिनाथ प्रभु के जिन मंदिर एवं गुरुदेव राजेन्द्रसूरीश्वर के समाधि मंदिर के दर्शन वंदन किए। इसके बाद आचार्य पाटगादी कक्ष में विराजित भावी गच्छाधिपति आचार्य देवेश ऋषभचंद्रविजय के दर्शन वंदन किए। मुख्यमंत्री ने गुरुवंदन के बाद भावी गच्छाधिपति आचार्य विद्यार्थी को कांबली ओढ़ाकर अभिनंदन किया।

इस अवसर पर आचार्य पीयूषचंद्रविजय , आचार्य रजतचंद्रविजय , प्रीतियशविजय, जिनचंद्रविजय, जीतचंद्रविजय, आदिनाथ राजेंद्र जैन श्वेतांबर पेढ़ी ट्रस्ट के महामंत्री फतेहलाल कोठारी, मैनेजिंग ट्रस्टी सुजानमल सेठ, ट्रस्टी एवं राज्यसभा सांसद मेघराज जैन, ट्रस्टी संजय सराफ, महोत्सव आयोजन समिति के सदस्य संजय कोठारी, मनोहर मोदी आदि उपस्थित थे।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को भारत मैट्रीमोनी पर साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???