Server 182
Did ISI obtain critical information from BSNL system?

Related News

आईएसआई ने की बीएसएनएल सिस्टम में घुसपैठ!

Did ISI obtain critical information from BSNL system?

print 
Did ISI obtain critical information from BSNL system?
8/7/2013 10:31:00 AM
नई दिल्ली। जहां एक तरफ पाकिस्तान भारतीय सीमा में घुसपैठ कर आए दिन भारतीय सैनिकों को नुकसान पहुंचा रहा है, वहीं खबर है कि भारतीय गृह मंत्रालय को शक है कि पाक की इंटर-सर्विसेज इंटेलिजेंस (आईएसआई) ने सरकारी टेलिकॉम कंपनी भारत संचार निगम लिमिटेड (बीएसएनएल) के सिस्टम में घुसपैठ कर न सिर्फ जरूरी जानकारियां हासिल की हैं, बल्कि स्पायवेयर भी इंस्टॉल कर दिया है। यह खुलासा एक समाचार वेबसाइट की ओर से किए गए डॉक्यूमेंट रिव्यू में हुआ है।

खुद को भारतीय सेना हैडक्वार्टर्स से मेजर विजय बताकर पाकिस्तानी इंटेलिजेंस अधिकारी ने इस वर्ष फरवरी में बीएसएनएल के एक कर्मचारी से संपर्क किया और ईमेल के जरिए कर्मचरी से तमाम क्रिटिकल जानकारियां मांगी। गृह मंत्रालय का मानना है कि इस ईमेल कम्यूनिकेशन के जरिए आईएसआई ने सफलतापूर्वक बीएसएनएल के नेटवर्क पर मालवेयर इंस्टॉल कर दिया है, जिससे टेलिको के कम्यूटर सिस्टम्स में वायरस आ गया है और सिस्टम की सिक्योरिटी को खतरा हुआ है।

गृह मंत्रालय को अब यह चिंता सता रही है कि यह स्पायवेयर आईएसआई को भारत की सेंसेटिव ऑर्गेनाइजेशंस के कम्यूनिकेशन लिंक्स का एक्सेस दे देगा और इससे साइबर अटैक हो सकता है।

दस्तावेजों में यह भी लिखा गया है कि गृह मंत्रालय को यह भी डर है कि इस कथित स्पायवेयर के जरिए पाकिस्तान बीएसएलन के नेटवर्क और ऑपरेशंस पर नजर रख सकेगा और आईएसआई को इसकी जानकारी देगा।

भारत के इंटेलिजेंस ब्यूरो (आईबी) ने यह खुलासा 22 जुलाई को लिखित में किया था। यह घटना 19 फरवरी की है और आईबी ने इसकी जानकारी प्रधानमंत्री कार्यालय, केबिनेट सचिव, गृह मंत्रालय, टेलिकॉम-आईटी व एक्स्टर्नल अफेयर्स और यहां तक कि देश की एलीट एक्स्टर्नल इंटेलिजेंस एजेंसी रॉ (द रिसर्च एंड एनालिसिस विंग) को भी 25 फरवरी को दी थी।

आईएसआई ने लैंड लाइन नंबर (011-23016782) को स्पूफ कर बीएसएनएल अधिकारी के मोबाइल पर फोन किया ताकि उसे लगे कि फोन भारती सेना के दिल्ली स्थित हैडक्वार्टर्स से आया है। आईएसआई अधिकारी ने खुदको मेजर विजय बताया और शिकायत की कि भारतीय सेना बीएसएनएल की वेबसाइट से सब्सक्राइबर बेस को एक्सेस नहीं कर पा रही है और बीएसएनएल अधिकारी के जीमेल एडे्रस पर टेस्ट मेल भी भेजी।

बीएसएनएल कर्मचारी ने इस ईमेल पर तीन ऑनलाइन लिंक्स भेजे। इसके बाद आईएसआई अधिकारी ने कहा कि वे इन लिक्स को खोल नहीं पा रहे हैं और बीएसएनएल को कुछ लिंक भेजे। बीएसएनएल कर्मचारी ने उन लिंक्स को अपने कंप्यूटर पर खोला जिससे पाकिस्तानी एजेंसी ने कथित तौर से सरकारी टेलिको सिस्टम पर मालवेयर इंस्टॉल कर दिया।

आईबी ने बीएसएनएल के अध्यक्ष व मेनेजिंग डायरेक्टर राकेश उपाध्याय को इस घटना की जानकारी दी और टेलिको से स्पायवेयर की पहचान कर सिस्टम से हटाने को कहा और कर्मचरी पर कार्यवाही भी करने को कहा, लेकिन उपाध्याय ने इसका कोई जवाब नहीं दिया।
रोचक खबरें फेसबुक पर ही पाने के लिए लाइक करें हमारा पेज -
अपने विचार पोस्ट करें

Comments
Top