Patrika Hindi News

पीलिया के लिए उपयोगी सिंघाड़ा,कर्पूर से दूर होगी सूजन, जानें अन्य घेरलू उपाय 

Updated: IST Jaundice
डिटॉक्सिफाइंग गुणों के कारण यह पीलिया ग्रसित लोगों के लिए भी काफी फायदेमंद माना जाता है। पीलिया के मरीज इसे कच्चा या जूस बनाकर ले सकते हैं।

सिंघाड़े में कई औषधीय गुण होते हैं जिनसे शुगर, अल्सर, हृदय रोग और गठिया जैसे रोगों से बचाव होता है। डिटॉक्सिफाइंग गुणों के कारण यह पीलिया ग्रसित लोगों के लिए भी काफी फायदेमंद माना जाता है। पीलिया के मरीज इसे कच्चा या जूस बनाकर ले सकते हैं। यह शरीर से जहरीले पदार्थों को बाहर निकालता है। सर्दियों में होने वाले डिहाइड्रेशन को दूर करने में भी सिंघाड़ा काफी उपयोगी है। मैंगनीज और आयोडीन की पर्याप्त मात्रा होने के कारण यह थायरॉइड ग्रंथि की कार्यशैली को सुचारू रखने में भी मदद करता है। इसमें कैलोरी की मात्रा काफी कम होती है जिससे वजन भी नहीं बढ़ता। इसमें आयरन काफी मात्रा में होता है जिससे खून की कमी दूर होती है। इसे कच्चा, उबालकर या सब्जी बनाकर किसी भी रूप में खा सकते हैं।

कर्पूर से दूर होती है सूजन
क र्पूर जलाने से वातावरण सुगंधित हो जाता है। यदि रात को कर्पूर जलाया जाए तो नींद अच्छी आती है और मच्छर भागते हैं। इसके तेल की 4-5 बूंदों को पानी में डालकर नहाने से शरीर में ताजगी बनी रहती है। सीने में जकड़न होने पर कर्पूर का तेल मलने से भी आराम मिलता है। शरीर में कहीं सूजन या मांसपेशियों में खिंचाव हो तो कर्पूर का मलहम लगाने से लाभ होता है। पानी में कर्पूर घोलकर घर में इसका पोछा लगाने से भी वातावरण शुद्ध होता है।

यह भी पढ़े :
विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं? निःशुल्क रजिस्टर करें ! - BharatMatrimony
LIVE CRICKET SCORE

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???