Patrika Hindi News

नई खोज : अंधेरे में भी चमकता है यह मेंढक

Updated: IST frog
समुद्र में पाए जाने वाले कई जीवों में यह गुण पाया जाता है

नई दिल्ली। पिछले दिनों करीब नाखुन की साइज के मेंढक की खोज के बाद अब वैज्ञानिकों ने मेंढकों की ऐसी प्रजाती खोज निकाली है, जिसे अंधेरे में चमकते हुए देखा जा सकता है। अंधेरे में चमकने वाले इन मेंढकों को दक्षिणी अमरीका के अर्जेंटीना में खोजा गया है। इन मेंढकों पर हरे, पीले और लाल रंग के छींटे नजर आते हैं।

सामान्य रोशनी में तो मेंढक के ये रंग पोल्का डॉट्स की तरह नजर आते हैं, लेकिन अंधेरे में ये गहरे नीले और हरे रंग की रोशनी में चमकते हैं। यह मेंढक ज्यादातर पेड़ों पर रहते हैं और जब शोधकर्ताओं ने पराबैंगनी किरणों से युक्त एक फ्लैशलाइट से इस मेंढक पर रोशनी फेंकी, तो लाल की जगह उनके अंदर से गहरे और नीले रंग का प्रकाश परावर्तित होने लगा।

शॉर्ट तरंगदैध्र्य पर प्रकाश को अवशोषित करने और लंबे तरंगदैध्र्य पर उसे परावर्तित करने की यह प्रक्रिया पदार्थों में तो आम है, लेकिन जीवों में यह दुर्लभ मानी जाती है। शोधकार्ताओं ने पाया कि दक्षिणी अमरीका के ये पोल्का डॉट वाले मेंढक बाकी किसी भी जानवर की तुलना में बिल्कुल अलग तरीके से परावर्तन प्रक्रिया को यूज करते हैं।

हालांकि समुद्र में पाए जाने वाले कई जीवों में यह गुण पाया जाता है। कोरल्स, मछलियां, शार्क और यहां तक कि कछुए की एक प्रजाति में भी यह गुण पाया जाता है।

यह भी पढ़े :
विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ?भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???