Patrika Hindi News

नंदिनी माइंस में 12 जगह खुदाई के बाद भी सीबीआई के हाथ नहीं लगे सबूत 

Updated: IST After 12 place dig Nandini Mines CBI Hand took no
सीबीआई व विजिलेंस की टीम ने शुक्रवार को भी नंदिनी खदान में माइल स्टोन की हेराफेरी की जांच की।जांच के बाद तीन दफ्तर को सील कर दिया था।

भिलाई. सीबीआई व विजिलेंस की टीम ने शुक्रवार को भी नंदिनी खदान में माइल स्टोन की हेराफेरी की जांच की। पहले दिन जांच के बाद अफसरों ने माइंस के तीन दफ्तर को सील कर दिया था। दूसरे दिन सुबह 10.30 बजे जांच में पहुंचे अधिकारियों ने तीनों दफ्तरों की सील खोली पर चाबी अपने पास ही रखी। आलमारी से पूरी फाइल को निकाला कर जांच के लिए अधिकारियों ने अपने कब्जे में लिया।

12 जगह पर गड्ढे किए

माइंस के अधिकारियों ने स्टॉक यार्ड में लाइम स्टोन मौजूद होने की बात कही थी। इस पर स्टॉक यार्ड में सीबीआई अफसरों नेे बाहर से मंगवाए हेंड ड्रिल न्यू मेटिक रोलर मशीन लगवाया। जिसमें माइंस से बिजली सप्लाई दी। इसके बाद एक-एक कर बारह स्थान पर गड्ढे किए गए।बारह जगह गडढेे खोदने से क्या मिला इसका खुलासा अधिकारियों ने नहीं किया है।

रात तक फाइलों को खंगालते रहे

रात करीब 8 बजे सीबीआई के अधिकारियों ने आलमारी से निकाले गए 300 पेज के दस्तावेज की फोटो कॉपी करने के लिए कहा। माइंस के अधिकारियों ने उन्हें बताया कि मशीन खराब हो गई है। इसके बाद सीबीआई के अधिकारियों ने नंदिनी के मार्केट से 300 पेज की फोटो कॉपी करवाई। रात तक फाइलों को खंगालते रहे। इस दौरान बीएसपी के अधिकारी भी दूसरे कार्यालय में मौजूद थे।

कितना खनन, कितना डिस्पेच

रात 10 बजे तक सीबीआई व विजलेंस के अधिकारियों ने माइंस से हर माह होने वाले उत्पादन का रिकार्ड चेक किया। हर माह डिस्पेच होने वाले लाइम स्टोन की भी जानकारी ली। बुधवार को जिस ऑफिस व जीओलाजिस्ट कक्ष को सील किया था, वहां की आलमारी से पूरी फाइल को निकाला गया। इसके बाद स्टॉक का मिलान किया गया। डेली प्रोडेक्शन, डेली डिस्पेज, मंथली प्रोडेक्शन रिपोर्ट तैयारी की।

अधिकारियों की सफाई को किया नजर अंदाज

सीबीआई के अधिकारियों ने बीएसपी के अधिकारियों की सफाई को नजर अंदाज किया। वे तमाम दस्तावेज को देखने के बाद उस पर चर्चा भी कर रहे थे। इसके साथ-साथ हर दिन के प्रोडेक्शन को मिलाकर देख रहे थे। इस पर अधिकारी प्लांट बंद होने की बात भी बता रहे थे, जिसे सीबीआई अफसरों ने अनसुनी कर दी।

आला अधिकारी के खिलाफ भी शिकायत

विजीलेंस से माइंस के एक आला अधिकारी पर स्टॉक वेरीफिकेशन को नजर अंदाज करके झूठी रिपोर्ट पेश करने की बात कही गई है। इसके बाद ही मामला और गंभीर हो गया। अब सीबीआई आला अधिकारी को भी इस मामले से जोड़ रही है।

बेच तो नहीं रहे लाइम स्टोन

लाइम स्टोन में 27 लाख टन की गड़बड़ी होने की शिकायत 25 मई 16 को मुख्य सर्तकता अधिकारी (केन्द्रीय) दिल्ली से भी की गई थी। जिसमें आसपास के निजी प्लांट में लाइम स्टोन को बेचने की भी आशंका जताई गई। इस वजह से पूरे मामले की बिंदुवार जांच करने की मांग की।

चूना पत्थर का उपयोग

बीएसपी में उत्पादन के दौरान चूना पत्थर का डोलोमाइट, कोकिंग कोल की तरह उपयोग किया जाता है। नंदिनी के साथ-साथ इसका आयात भी किया जाता है।नंदिनी से आने वाले लाइम स्टोन की क्वालिटी अब पहले की तरह नहीं रह गई है। लाइम स्टोन में मिट्टी अधिक होने की वजह से प्रबंधन अब आयात किए लाइम स्टोन को तरजीह दे रहा है।

यह भी पढ़े :
विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ?भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???