Patrika Hindi News

> > > > Bhilai: BSP contract workers fell over cylinder, death

BSP में नहीं थम रहा हादसों का सिलसिला: एक और ठेका श्रमिक की मौत

Updated: IST  BSP contract worker fell over cylinder, death
भिलाई इस्पात संयंत्र के भीतर दुर्घटनाएं थमने का नाम नहीं ले रही है। सुरक्षा में संयंत्र प्रबंधन की लापरवाही और चूक के कारण आए दिन दुर्घटनाएं हो रही हैं।

भिलाई. भिलाई इस्पात संयंत्र के भीतर दुर्घटनाएं थमने का नाम नहीं ले रही है। सुरक्षा में संयंत्र प्रबंधन की लापरवाही और चूक के कारण आए दिन दुर्घटनाएं हो रही हैं। इसके बाद भी न तो संयंत्र प्रबंधन और न ही निर्माणी एजेंसियां सावधानी बरत रही है। आए दिन संयंत्र कर्मी और ठेका श्रमिकों की जान जा रही हैं।

ठेका श्रमिक होरीलाल यादव की मौत

शुक्रवार को संयंत्र के एसएमएस-थ्री में कार्यरत ठेका श्रमिक होरीलाल यादव (23) ग्राम खपरी उतई निवासी की मौत हो गई। बताया जाता है कि ठेका श्रमिक होरीलाल एसएमएस-थ्री में काम कर रहा था, तभी उनके ऊपर भारी वजनी गैस सिलेंडर गिर गया। सिलेंडर गिरते ही वह अचेत हो गया। उसे पहले संयंत्र के मेन मेडिकल पोस्ट ले जाया गया, जहां से सेक्टर-09 अस्पताल रेफर कर दिया। सेक्टर-09 अस्पताल के डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। घटना सुबह 10 साढ़े 10 बजे के बीच की बताई गई है।

दो दिन पहले ही एक संयंत्र कर्मी की मौत

बता दें कि दो दिन पहले ही एक संयंत्र कर्मी कुलेश्वर वर्मा की इस्पात भवन के पांचवी मंजिल से गिरने के कारण दर्दनाक मौत हो गई थी। उसने आत्महत्या की या किसी ने उसे धक्का दे दिया था यह स्पष्ट नहीं हो पाया है। फिलहाल मामले को बीएसपी अधिकारियों की प्रताडऩा से जोड़कर देखा जा रहा है। मृतक के परिजन ने भी संयंत्र प्रबंधन पर प्रताडऩा का आरोप लगाया है।

इस्पात मजदूर संघ ने दिया धरना

इधर दुर्घटना में ठेका श्रमिक की मौत की खबर मिलते ही इस्पात मजदूर संघ के पदाधिकारी बड़ी संख्या में सेक्टर-09 अस्पताल पहुंचे। पदाधिकारियों ने मुआवजे और मृतक के आश्रित परिजन को नौकरी की मांग को लेकर सेक्टर-09 अस्पताल के सामने धरना-प्रदर्शन कर रहे हैं। धरना-प्रदर्शन को लगभग चार घंटे हो गए हैं और संयंत्र के किसी भी जिम्मेदारी अधिकारी वहां नहीं पहुंचे हैं। इससे मृतक के पिता और भाई के अलावा यूनियन का आक्रोश बढ़ता ही जा रहा है।

मृतक का अंतिम संस्कार नहीं करने पर अड़े

परिजन और यूनियन जब-तक मुआवजा नहीं मिल जाता तब-तक मृतक का अंतिम संस्कार नहीं करने पर अड़े हुए है। वहां इस्पात मजदूर संघ के दिनेश पांडेय, यशवंत, शारदा गुप्ता, हरिशंकर चतुर्वेदी, आईपी मिश्रा, अरविंद पुरी, एसएस यादव, मृग्रेन्द्र कुमार, सुंदर लाल पटेल सहित अन्य पदाधिकारी मौजूद थे। यूनियन ने मृतक के परिजन को हर संभव मदद का भरोसा दिलाया है।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!

Latest Videos from Patrika

Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???