Patrika Hindi News

> > > > Bhilai: Gangrape: First marriage, then business partner by making hoax served sir

गैंगरेप: पहले शादी का झांसा दिया फिर बिजनेस पार्टनर बनाकर साहब को परोस दिया

Updated: IST Rape: First marriage, then business partner by mak
गैंगरेप प्रकरण में एक नर्ई कहानी सामने आई है। युवती को शादी का झांसा देकर फंसाने वाले अजीत ने उसे बिजनेस में फायदा उठाने के लिए भी इस्तेमाल किया।

भिलाई. गैंगरेप प्रकरण में एक नर्ई कहानी सामने आई है। युवती को शादी का झांसा देकर फंसाने वाले अजीत ने उसे बिजनेस में फायदा उठाने के लिए भी इस्तेमाल किया। उसने युवती से कहा कि कोलकाता से आए दुलाल चटर्जी को खुश कर दोगी तो मुझे बिजनेस में फायदा मिल जाएगा। इसके बाद हम शादी कर लेंगे। इसके बाद उसे नेहरूनगर स्थित गेस्ट हाउस में दुलाल के सामने परोस दिया। दुलाल ने उसकी अस्मत से खेला।

शादी का झांसा देकर होटल में दुष्कर्म

पुलिस ने बताया कि 15 जुलाई को अजीत ने जगदलपुर के होटल में शादी का झांसा देकर पीडि़ता के साथ दुष्कर्म किया। इसके बाद भिलाई लाकर तीन दोस्तों के साथ मिलकर उसे हवस का शिकार बनाया। इतना सब होने के बाद भी पीडि़ता अजीत के साथ शादी करना चाहती थी। गैंगरेप के मुख्य आरोपी अजीत इस बात को लेकर एक बार फिर उसे अपने जाल में फंसाने में कामयाब हो गया। पीडि़ता को कोर्ट में शादी करने का बहाना करके अपने साथ गाड़ी में बैठाया।

इनको भी खुश कर दो

नेहरू नगर पहुंचते ही अचानक गाड़ी गुरुद्वारा की ओर मोड़ दी। जब पीडि़ता ने पूछा कि ये कहां ले जा रहे हो। तब आरोपी अजीत ने बताया कि एलबी वर्मा शादी का पेपर तैयार कर हमारे गेस्ट हाउस में रखा है। इसके बाद पीडि़ता को वहां ले गए। जहां चारो आरोपियों पहले से बैठे हुए थे। इसके साथ ही 50 से 60 साल के दुलाल चटर्जी से मेरा परिचय कराया। आरोपी अजीत ने कहा कि दुलाल चटर्जी कोलकाता से आए हैं। दुर्गापुर में बहुत बड़े साहब हैं और मेरे बिजनेस को सपोर्ट करते हैं। इनको भी खुश कर दो।

सहेली की समझाइश पर रिपोर्ट

इसके बाद हम दोनों शादी कर के खुश अच्छी लाइफ व्यतीत करेंगे। इसके बाद आरोपी अजीत और उसके अन्य साथी बाहर चले गए। दुलाल ने अकेले कमरे में मेरी आबरू लूटी। इसके बाद चटर्जी बाहर किसी वर्मा से बात कर रहा था कि तुम्हारी दबंगई जबरदस्त है। लेकिन पीडि़ता ने उसे देख नहीं पाई। एक अगस्त को वह रिपोर्ट कराना चाहती थी। लेकिन उसे मुख्य आरोपी अजीत डराता-धमकाता रहा। इसके बाद सहेली की समझाइश पर उसने रिपोर्ट दर्ज कराई।

यह है मामला, जिसमें बनाया हवस का शिकार

घटना यह है कि एक दिन पहले गैंगरेप से पीडि़त युवती ने सुपेला थाना में इसकी शिकायत दर्ज कराई थी। इसके मुताबिक आरोपी दो महीने तक डरा-धमका कर दैहिक शोषण कर रहे थे। घटना को अंजाम देने वाला मुख्य आरोपी अजीत सिंह ने अपनी जाल में फंसाया। इसके बाद अपने चार मित्रों को भी इस कृत्य में शामिल किया। अजीत ने जगदलपुर में एक होटल में दो महीने पहले शादी का झांसा देकर युवती के साथ शारीरिक संबंध बनाया था।

दरवाजा बंद कर बलात्कार

इसके बाद अजीत ने युवती को शादी की तारीख पक्की करने नेहरू नगर स्थित अपने कार्यालय अजीत इंटरप्राइजेज में बुलाया। जहां अजीत सिंह के तीन साथी वकील एलबी वर्मा, कमलेश चंद्रकर, गिरीश खापर्डे ने कमरे का दरवाजा बंद कर उसके साथ बलात्कार किया।

आरोपियों की दुर्गापुर में तलाश

पुलिस ने इस मामले में तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। जिसमें सुपेला अस्पताल में मरीज कते साथ हुए गैंगरेप के एक आरोपी का वकील शामिल है। फरार आरोपी की गिरफ्तारी के लिए पुलिस दुर्गापुर रवाना हुई है। जो कि एक कंपनी का कर्मचारी है। वहीं इस मामले का मुख्य आरोपी अजीत सिंह फरार है।

पीडि़ता ने थाने में यह दर्ज कराई रिपोर्ट

पीडि़ता ने बताया कि उक्त घटना के बाद में मैं पूरी तरह से टूट गई चुकी थी। मैंने बदनामी के डर से अपने साथ हुई घटना के बारे में अपने घर पर नहीं बताई, लेकिन अंदर से मुझे घुटन होने लगी थी। फिर मै सोची कि अजीत सिंह से ही शॉप को किराए से लिया है। एक बार मन किया कि ऑफिस ही छोड़ दूं, लेकिन सारी घटना की जानकारी अपनी सहेली और बिजनेस पार्टनर को दी। मेरी पार्टनर सहेली ने मुझे सलाह दी कि इन सभी आरोपियों को सलाखों के पीछे होना चाहिए।

शादी की उम्मीद में बार-बार लुटी

पुलिस के अनुसार पीडि़ता ने इसके बाद आरोपी से फाइनल बात की। आरोपी अजीत सिंह को फोन कर बोली कि एलबी वर्मा से एग्रीमेंट बना कर दिला दो। अब मै ऑफिस को खाली कर रही हूं। इसके बाद अजीन ने उसे कहा कि तू टेंशन मत ले मैं जो डेट बताऊंगा। उस डेट पर दोनों शादी कर लेंगे। तुझे ऑफिस छोडऩे की कोई जरूरत नहीं है। इसके बाद युवती ने आरोपी की बातों पर अविश्वास जताते हुए कहा कि आप और आपके दोस्तों ने मिलकर मेरी जिंदगी को तबाह कर दिया है और फोन काट दिया। इसके बाद अचानक एक दिन अजीत पीडि़ता के ऑफिस में आ गया और गलती मानी और शादी करने की बात कर उसे फिर से विश्वास में ले लिया।

गैंगरेप के आरोपियों की पैरवी करने वाला आरोपी

सुपेला थाने के एक गैंगरेप मामले के तीन आरोपियों की तरफ से अदालत में पैरवी करने वाला वकील एलबी वर्मा खुद दुष्कर्म का आरोपी बन गया है। पीडि़ता के साथ सामूहिक दुष्कर्म करने वाले चार आरोपियों में से एक एलबी वर्मा है। पुलिस उसको गिरफ्तार कर जेल भेज चुकी है।

तलाश में पुलिस टीम भेजी गई

सीएसपी वीरेन्द्र सतपथी ने कहा कि इस मामले को पुलिस ने गंभीरता से लिया है। दो आरोपी फरार है। जिसकी तलाश में पुलिस टीम भेजी गई है। एक फरार आरोपी दुर्गापुर की कंपनी जो बीएसपी को माल सप्लाई करती है उसका कर्मचारी है। दूसरा भी उसी कंपनी के लिए काम करता है।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे