Patrika Hindi News

अचानक सिविक सेंटर पहुंचे BSP CEO ने ठेले पर ली चाय की चुस्की

Updated: IST  SAIL BSP, Bhilai Steel Plant, BSP CEO, CEO M Ravi
भिलाई इस्पात संयंत्र के मुख्य कार्यकारी अधिकारी एम रवि शुक्रवार की सुबह अचानक सिविक सेंटर में एक पान ठेले के सामने चाय पी रहे लोगों के बीच पहुंचे।

भिलाई. भिलाई इस्पात संयंत्र के मुख्य कार्यकारी अधिकारी एम रवि शुक्रवार की सुबह अचानक सिविक सेंटर में एक पान ठेले के सामने चाय पी रहे लोगों के बीच पहुंचे। उन्होंने उनके साथ बैठकर न सिर्फ चाय की चुस्की ली बल्कि उनकी समस्याएं सुनीं। टाउनशिप के इस हृदय स्थल को और सुंदर व व्यवस्थित बनाने रायशुमारी भी की।

सिविक सेंटर में परिवार सहित वीकेंड व संडे

गुड मॉर्निंग एसोसिएशन के लोगों ने रवि से कहा कि सिविक सेंटर में प्रसाधन की कोई व्यवस्था नहीं है। यहां न केवल ट्विनसिटी बल्कि आसपास के शहरों के लोग परिवार सहित वीकेंड व संडे मनाने आते हैं। प्रसाधन सुविधा नहीं होने से लोगों कॉफी परेशानी होती है। खासतौर पर महिलाओं को अमर्यादित परिस्थितियों का सामना करना पड़ता है। अगर प्रबंधन प्रसाधन की व्यवस्था कर ले तो मार्केट के पूरे व्यवसायी मेंटनेंस व देखेरख का जिम्मा ले लेंगे। उन्होंने लोगों की इस पहल का स्वागत करते हुए आश्वासन दिया।

अब पार्किंग स्थल पर ही खड़ी होंगी गाडिय़ां

भिलाई का कनाट प्लेस कहे जाने वाले इस मार्केट में पार्किंग की सुविधा नहीं है। यहां रोज शाम को लोग परिवार सहित पहुंचते हैं। लोग कहीं भी बेतरतीब गाडिय़ां खड़ी कर देते हैं। इससे आवाजाही में परेशानी होती है। दुर्घटना की भी आशंका बनी रहती है। इसे देखते हुए गुड मॉर्निंग एसोसिएशन ने हरिराज होटल के पीछे खाली जगह को पार्किंग स्थल चिन्हित करने और गाडिय़ां खड़ी करने व्यवस्था बनाने का आग्रह किया। सीईओ ने इस बात को भी स्वीकार कर लिया।

Read more: SAIL BSP: चीन की चालाकी, इस्पात की कीमतें कर दी कम

पूरा मार्केट होगा व्यवस्थित

इसी तरह बढ़ते अवैध कब्जे से मार्केट की खबूसूरती व व्यवस्था प्रभावित होने की भी जानकारी लोगों ने दी। कहा कि इसे व्यवस्थित करने की जरूरत है। सीईओ ने सोमवार को अपने अधिकारियों के साथ फिर दौरा कर इस पर विचार करने का आश्वासन दिया।

Read more:SAIL BSP:एक अरब की लागत से बदलेगी टाउनशिप की 65 साल पुरानी पेयजल पाइप लाइन

भिलाई सिविक सेंटर का होगा सौंदर्यीकरण

सिविक सेंटर की शुरुआत एक शॉपिंग सेंटर के रूप में की गई थी। यहां दो कतार में दुकानें थी। लंबे समय तक यह सामाजिक गतिविधियों, मनोरंजन और शॉपिंग का गढ़ रहा। सिविक सेंटर में बच्चों के लिए एक गार्डन भी था, जिसमें टॉय ट्रेन भी थी। जिसे हर साल 14 नवंबर को बाल दिवस के मौके पर खोला जाता था।

Read more: #SAIL BSP: रिटायर्ड कार्मिकों के लिए नई मेडिक्लेम पॉलिसी शुरू

कुछ ऐसा था पहले सिविक सेंटर

हालांकि अब यहां टॉय ट्रेन नहीं है। वहीं गार्डन का इस्तेमाल बच्चों को यातायात संकेत सिखाने के लिए किया जाता है। सिविक सेंटर के पूर्व में स्टेज के साथ एक खुली जगह है। इसे ओपन-एयर थियेटर के नाम से जाना जाता है और इसका इस्तेमाल म्युजिकल नाइट्स के अलावा विभिन्न तरह के सांस्कृतिक कायक्रमों के लिए होता है। हॉलाकि पहले यह एक फिल्म थिएटर था, जिसे चित्र मंदिर के नाम से जाना जाता था। लंबे समय तक यह इस क्षेत्र का एकमात्र वातानुकूलित फिल्म थिएटर था।

यह भी पढ़े :
विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???