"दुर्गा" की शक्ति से हार रही अखिलेश सरकार!

Durga Shakti case reaches Governor office

print 
Durga Shakti case reaches Governor office
8/7/2013 7:18:00 PM
Durga Shakti case reaches Governor office

लखनऊ/बांदा। अब उत्तर प्रदेश की अखिलेश यादव सरकार कितना झूठ बोलेगी? जिस एलआईयू रिपोर्ट को आधार मानकर आईएएस अधिकारी दुर्गा शक्ति नागपाल को निलंबित किया है, उसमें तो उनका जिक्र तक नहीं है। क्या यह सच नहीं है कि "दुर्गा" की शक्ति से अखिलेश यादव सरकार हार रही है?

दुर्गा शक्ति निलंबन मामले में चारों तरफ से घिरी अखिलेश सरकार अपनी खीझ उतारते हुए लखनऊ में मंगलवार को कहा कि नागपाल को आरोपपत्र दे दिया गया है, सच्चाई जल्द सामने आएगी लेकिन अखिलेश मीडिया के उन सवालों का जवाब नहीं दे पाए, जो उनसे पूछे गए। नागपाल के मामले में मीडिया की भूमिका पर सवाल उठाने के बीच अब यह मामला राज्यपाल बी.एल.जोशी के दरबार में जा पहुंचा है।

सोशल मीडिया में छाये इस मामले पर सरकार के खिलाफ और नागपाल के पक्ष में फेसबुक पर टिप्पणी करने वाले कमल भारती को रामपुर में गिरफ्तार कर लिया गया हालांकि मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट ने उसे जमानत दे दी। मुख्यमंत्री ने मीडिया पर इस मामले को आवश्यकता से अधिक तूल देने का आरोप लगाया। केन्द्र और राज्य सरकार भी इस मसले पर आमने सामने हैं।

शुरूआती दौर में मुख्यमंत्री अखिलेश ने कहा था कि स्थानीय अभिसूचना इकाई (एलआईयू) की रिपोर्ट के आधार पर गौतमबुद्ध नगर सदर की एसडीएम (आईएएस अधिकारी) दुर्गा शक्ति नागपाल को निलंबन किया गया है।

बकौल अखिलेश, एक गांव में मस्जिद की दीवार गिराने में नागपाल ने नियम की अनदेखी की है लेकिन, जिलाधिकारी व एलआईयू की रिपोर्ट में कहीं भी दुर्गा का नाम न आने पर साफ जाहिर है कि उन्हें खनन माफियाओं या नरेश भाटी की शिकायत पर बेवजह निलंबित किया गया है

बीजेपी ने लगाई गवर्नर से गुहार

इस सबके बीच भारतीय जनता पार्टी ने मंगलवार को जोशी से मुलाकात करके निलम्बन को अवैधानिक बताते हुए इसमें प्रभावी हस्तक्षेप करने और इसे निरस्त करने की मांग की। भाजपा प्रतिनिधिमण्डल का कहना था कि राज्य के संवैधानिक मुखिया होने के नाते राज्यपाल को एक ईमानदार अधिकारी को संरक्षण देना चाहिए।


संसद में मुलायम रखेंगे सपा का पक्ष

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने आईएएस दुर्गाशक्ति के मामले में मंगलवार को स्वीकार किया कि मेरी लोकप्रियता घट रही है। साथ ही उन्होंने कहा कि दुर्गाशक्ति मामले पर संसद में पार्टी के बहुत से लोग मौजूद हैं। सदन में नेताजी यानी मुलायम सिंह यादव ही इस मामले पर पार्टी का पक्ष रखेंगे।


महिला आयोग हरकत में आया


इस बीच सामाजिक कार्यकर्ता नूतन ठाकुर मामले को केन्द्रीय महिला आयोग लेकर चली गईं। ठाकुर के अनुसार उत्तर प्रदेश एग्रो के अध्यक्ष तथा मंत्री स्तर का दर्जा प्राप्त नरेन्द्र भाटी द्वारा नोएडा में दुर्गा शक्ति नागपाल के विरूद्ध की गई आपत्तिजनक टिप्पणियों के संबंध में राष्ट्रीय महिला आयोग ने संज्ञान ले लिया है। राष्ट्रीय महिला आयोग की अध्यक्ष ममता शर्मा ने मुख्य सचिव जावेद उस्मानी को शिकायत की प्रति प्रेषित करते हुए पूरे मामले में रिपोर्ट मंगवाई है। साथ ही रिपोर्ट आने पर अग्रिम कार्रवाई करने की बात कही है।


ठाकुर ने कहा कि वह इस प्रकरण को उत्तर प्रदेश सरकार को संदर्भित करने से संतुष्ट नहीं है और वह इसकी जांच स्वयं आयोग द्वारा करवाने की मांग करेंगी। ठाकुर ने यू ट्यूब पर 0.35 मिनट के भाटी के वक्तव्य में विशेषकर यह ... औरत चालीस मिनट नहीं झेल पाई। में "औरत" शब्द के पूर्व के अनुचित शब्द आपत्तिजनक बताते हुए तत्काल इस प्रकरण की जांच कराकर नियमानुसार सभी विधिक कार्रवाई करने का अनुरोध किया है।

दागी अफसर ने करा दुर्गा को सस्पेंड

यूपी में जमानत पर रिहा सजायाफ्ता अधिकारी द्वारा ग्रेटर नोयडा की एसडीएम दुर्गा शक्ति नागपाल के निलंबन आदेश पर हस्ताक्षर करने का मामला सामने आया है। नागपाल को निलंबित करने वाले अधिकारी राजीव कुमार को आपराधिक साजिश रचने और नोयडा में जमीन आवंटन में घपला करने के जुर्म में तीन साल की सजा दी गई है। वह फिलहाल जमानत पर रिहा हैं और सजा के खिलाफ उनकी अपील न्यायालय में लंबित है।


दुर्गा से माफी मांगे सरकार

बुंदेलखंड के महिला जन संगठन "नागिन गैंग" व "कोबरा" की मुख्य समन्वयक (को-आडीर्नेटर) शीलू कैथल (नेहा) ने कहा कि सच यह है कि दुर्गा की शक्ति से अखिलेश सरकार हार चुकी है, अब सरकार सिर्फ अपनी आबरू बचाने पर तुली है। उन्होंने कहा कि अखिलेश सरकार को जारी आरोपपत्र वापस लेना चाहिए और बिना शर्त माफी मांगना चाहिए।


Comments
GIRISH PANDIT says:
07 Aug 13 at 04:28 PM
सोनिया गा?धी ने प्रधान मंत्री को इअत्र लिखा यह तो अच्छा किया है लेकिन हम चाहते है की सोनियाजी हरियाणा के आय ? एस अधिकारी श्री खेमका जो रॉबर्ट वद्र के मामले में जाच कर रहे थे उनके प्रकरण में भी ?सा ही पत्र लिखना चाहिए था
GIRISH PANDIT says:
07 Aug 13 at 04:25 PM
सोनिया गा?धी ने प्रधान मंत्री को इअत्र लिखा यह तो अच्छा किया है लेकिन हम चाहते है की सोनियाजी हरियाणा के आय ? एस अधिकारी श्री खेमका जो रॉबर्ट वद्र के मामले में जाच कर रहे थे उनके प्रकरण में भी ?सा ही पत्र लिखना चाहिए था
ashok bishoni says:
07 Aug 13 at 08:23 AM
दुर्गा हम तुमरे साथ हें
Write to the Editor
Type in Hindi (Press Ctrl+g to toggle between English and Hindi)
Terms & Conditions
Comments are moderated. Comments that include profanity or personal attacks or other inappropriate comments or material will be removed from the site. Additionally, entries that are unsigned or contain "signatures" by someone other than the actual author will be removed. Finally, we will take steps to block users who violate any of our posting standards, terms of use or privacy policies or any other policies governing this site.
Name:    
Location:    
E-mail:    
   
   
    
 
 
Top