Patrika Hindi News

वित्तीय वर्ष में HDFC की हालत खराब, 5 हजार कर्मचारियों ने छोड़ी नौकरी

Updated: IST city center hdfc bank
एचडीएफसी बैंक की चालू वित्त वर्ष की तीसरी तिमाही में कर्मचारियों की संख्या में 4,581 की कमी आई है...

मुंबई। भारतीय एचडीएफसी बैंक की लगता है वित्तीय हालत खराब होती जा रही है। यही कारण है कि चालू वित्त वर्ष की तीसरी तिमाही में कर्मचारियों की संख्या में 4,581 की कमी आई है। हालांकि बात की जाए तो एक साल पहले की तुलना में बैंक के कर्मचारियों की संख्या में 5,802 का इजाफा हुआ है।

बैंक का कहना है कि मुख्य रूप से उसकी प्रणाली की दक्षता बढ़ने तथा छोड़ने वालों की तुलना में कम संख्या में नियुक्तियों की वजह से उसके यहां कर्मचारियों की संख्या में कमी आई है।

दिसंबर तिमाही में बैंक की मुनाफा वृद्धि दर सबसे कम यानी 15 प्रतिशत रही. 31 दिसंबर, 2016 को बैंक के कर्मचारियों की संख्या घटकर 90,421 पर आ गई, जो 30 सितंबर, 2016 को 95,002 थी। ईमेल के जरिये भेजे जवाब में बैंक ने कहा है कि उसके कर्मचारियों की संख्या में कमी की प्रमुख वजह प्रणाली की दक्षता तथा नियुक्तियों में कमी है।

भारतीय बैंकिंग उद्योग में नौकरी छोड़ने वालों की सालाना दर 16 से 22 प्रतिशत है। एचडीएफसी बैंक में यह 18 से 20 प्रतिशत है। उद्योग में नौकरी के निकालने की दर का कोई आंकड़ा उपलब्ध नहीं है।

यह भी पढ़े :
विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ?भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???