Patrika Hindi News

> > > > factionalism between Shivpal yadav and Ram Gopal Yadav supporters

रामगोपाल यादव पर भारी पड़ेगा शिवपाल का खेमा !

Updated: IST Ram Gopal Yadav
सूत्रों की मानें तो दोनों खेमों के लोग एक दूसरे पर हावी होने का प्रयास कर रहे हैं।

एटा। यूपी चुनाव से पहले समाजवादी पार्टी में मचा घमासान गहराता जा रहा है। एटा सदर के विधायक आशीष यादव ने सपा मुखिया के छोटे भाई और राज्यसभा सासंद रामगोपाल यादव के खिलाफ मोर्चा खोलकर तय कर दिया है कि अब सपा दो खेमों में बंट गई है। एटा की बात की जाए तो यहां सपा में दो धड़ हो गए हैं। एक खेमे में शिवपाल यादव समर्थक हैं तो दूसरा खेमा रामगोपाल यादव के समर्थकों का है।

ये माने जाते हैं दो खेमे

पहले खेमे में यूपी विधानपरिषद के सभापति रमेश यादव के पुत्र आशीष यादव हैं, जो शिवपाल सिंह यादव की जुबान बोल रहे हैं। वहीं दूसरे खेमा माना जाता है एटा के जिलापंचायत अध्यक्ष जुगेन्द्र सिंह यादव का। सूत्रों की मानें तो दोनों खेमों के लोग एक दूसरे पर हावी होने का प्रयास कर रहे हैं। जिलापंचायत अध्यक्ष जुगेन्द्र सिंह यादव जो माहरेरा सीट से यूपी चुनाव के लिए मैदान में उतरने का सपना देख रहे हैं। हालांकि जिला संगठन में जुगेंद्र की पकड़ मजबूत माना जाती है।

सैफई परिवार की एकता ने बांध रखे थे हाथ

एटा में सपा संगठन की बात की जाए तो यहां पर अभी से नहीं, बल्कि काफी समय से दो फाड़ थे, लेकिन सैफई परिवार की एकता के चलते ये दोनों खेमे शांत बैठे हुए थे। अब सपा परिवार में कलह हुई और शिवपाल सिंह यादव ने शिकंजा कसना शुरू किया तो यहां भी रार खुलकर सामने आने लगी है। एटा सदर विधायक आशीष यादव ने शिवपाल सिंह यादव की तरफ से रामगोपाल यादव के करीबी माने जाने वाले लोगों के खिलाफ हल्ला बोल दिया। उन्होंने आरोप लगाए गए कि रामगोपाल के संरक्षण का नतीजा है, जो उनके गुर्गे भू माफिया और अवैध शराबखोरी में लगे हैं।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे