Patrika Hindi News
UP Scam

Video Icon शिवपाल का नाम लिए बगैर सीएम अखिलेश ने कसा तंज

Updated: IST Akhilesh in Etawah
जानिए सीएम अखिलेश ने क्या कहा.

इटावा. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव गुरुवार को अपने गृह जिले इटावा में बिल्कुल अलग अंदाज में नजर आए। इशारों ही इशारों में मुख्यमंत्री ने अपने चाचा शिवपाल सिंह यादव पर निशाना साधते हुए कहा कि जिनके भरोसे इटावा छोड़ा हुआ था उन्होंने ना केवल साइकिल छीनने की कोशिश की बल्कि नेताजी को हम से अलग करने की भी कोशिश की।

अपने जिले इटावा सदर के समाजवादी पार्टी के उम्मीदवार कुलदीप गुप्ता के समर्थन में इटावा के ऐतिहासिक नुमाइश मैदान में आयोजित जनसभा में उन्होंने कुलदीप गुप्ता को रिकार्ड मतों से जिताने की अपील। उन्होंने धर्म युद्ध और विरासत की लड़ाई को लेकर के जबरदस्त तंज कसते हुए कहा कि किसको क्या पता की उसको क्या हासिल हो जाए। उन्होंने अपने जन्म को लेकर कहा कि उनको क्या पता था कि उनकी पैदाइश यहां पर हो जाएगी। उन्होंने कहा नेता जी ने 25 साल समाजवादी साइकिल जोरदार तरीके से चलाई और अब उसको आगे 25 साल चलाने की जिम्मेदारी हमारे और आपके ऊपर है।

उन्होंने उन लोगों को भी सबक सिखाने की गुजारिश की जो समाजवादी पार्टी को हराने में जुटे हुए हैं। उन्होंने साफ शब्दों में कहा कि अगर कुलदीप गुप्ता संटू को आप जिताएंगे तो हम इटावा को उत्तर प्रदेश का आदर्श जिला बनाने में कोई कसर नहीं छोड़ेंगे।

उन्होंने कहा कि उनको पता है कि इटावा मे समाजवादी पार्टी के समर्थकों को धमकाने की भी कोशिश की जा रही है । इस बात की उनके पास खबरें आ रही है। उन्होंने कहा कि समाजवादी पार्टी की बदौलत ऐसे लोग मालामाल हो गए हैं जो अपने पैसे को मतदान वाले दिन बूथ पर इस्तेमाल करके समाजवादी पार्टी के खिलाफ इस्तेमाल कर सकते हैं। ऐसे लोगों को सबक सिखाना बेहद जरूरी है। जब तक ऐसे लोगों को सबक नहीं सिखाया जाएगा तब तक समाजवादी आगे नहीं बढ़ सकती।

मुख्यमंत्री यहीं नहीं रूके उन्होंने कहा कि उन्हें इस बात का पूरी जानकारी है कि इटावा का मामला पूरी तरह से अलग है क्योंकि यहां पर हमें पता चला है कि नई किस्म की लड़ाई लड़ी जा रही है और यह लड़ाई किसी और से नहीं बल्कि खुद वह समाजवादी लड़ने में लगे हुए हैं जो समाजवादी बेहद मालामाल स्थिति में आ चुके हैं।

उन्होंने कहा कि मैं इटावा को अपने आप से इसलिए अलग रखे हुए था क्योंकि जो लोग इटावा को देख रहे थे आज वही समाजवादी पार्टी के खिलाफ खड़े हो गए। मुख्यमंत्री तल्खी के मूड में तब आ गए जब उन्होंने यह कहने से भी कोई हिचक नहीं की कि अगर हमें लिख कर के दे देंगे तो ऐसे लोगों के खिलाफ जांच कराने में भी हम पीछे नहीं हटेंगे।

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं? निःशुल्क रजिस्टर करें ! - BharatMatrimony
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???