Patrika Hindi News

ट्रंप से नाराज हुए ओलांद, यूरोपीय नेताओं से कहा - दें ‘कड़ी’ प्रतिक्रिया

Updated: IST Hollande urges
ओलांद सात देशों के मुस्लिम नागरिकों को अमरीका आने से रोकने के लिए नए आदेश और नाटो की प्रासंगिकता पर ट्रंप के बयान से काफी नाराज हैं।

लिस्बन. फ्रांस के प्रेसिडेंट्स फ्रांसुआ ओलांद सात देशों के मुस्लिम नागरिकों को अमरीका आने से रोकने के लिए नए आदेश जारी करने के बाद से काफी नाराज हैं। उन्होंने इस मामले को लेकर यूरोपीय नेताओं से कड़ी प्रतिक्रया देने को कहा है। दक्षिणी यूरोपीय संघ के नेताओं की एक सभा में उन्होंने कहा कि यूरोपीय देशों के नेता एक संयुक्त मोर्चा बनाकर अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को ‘कड़ी’ प्रतिक्रिया दें।

ट्रंप के फैसले से परेशानी

सभा में ओलांद ने कहा, ‘‘हमें अमरीका के नए प्रशासन से मजबूती से बात करना चाहिए। उन्होंने ऐसे संकेत दिए हैं कि हम लोगों के द्वारा झेली जा रही समस्याओं से निपटने के लिए उनके पास अपना एक अलग नजरिया है।’’ ट्रंप के फैसले ने अमरीका के पारंपरिक यूरोपीय सहयोगियों को बड़े बदलाव की योजनाओं के तहत परेशानी में ला दिया है।

ट्रंप ने नाटो की प्रासंगिकता पर भी उठाए सवाल

अमरीकी राष्ट्रपति ने ब्रिटेन की प्रधानमंत्री टेरीजा मे के साथ शुक्रवार को एक बैठक में कहा था कि नाटो अप्रसांगिक हो चुका है और उन्होंने घोषणा की है कि वह ट्रांस अटलांटिक कारोबार योजना को खत्म करेंगे। ट्रंप ने ब्रिटेन के यूरोपीय संघ से बाहर निकलने के फैसले की भी प्रशंसा की।

सात देशों को लेकर ट्रंप का नया आदेश क्या है ?

डोनाल्ड ट्रंप ने जिस आदेश पर हस्ताक्षर किए हैं उसमें मुस्लिम बहुल सात देशों के नागरिकों को अगले आदेश तक अमरीका में घुसने से प्रतिबंधित कर दिया गया है। नए आदेश के तहत सीरियाई नागरिकों को अमरीका में आने से रोक दिया गया है। इसके साथ ही अगले तीन महीने तक ईरान और ईराक समेत मुस्लिम बहुल सात देशों के नागरिकों को वीजा नहीं देने का सर्कुलर जारी हुआ है। आदेश के तहत जिन सात मुस्लिम देशों के नागरिकों पर वीजा पाबंदियां हैं, उनमें ईरान, इराक, लीबिया, सोमालिया, सूडान, सीरिया और यमन हैं। हालांकि, पाकिस्तान और अफगानिस्तान के नागरिकों पर अभी कोई बैन नहीं लगाया गया है। हालांकि ट्रंप के फैसले पर कोर्ट का स्टे आ गया है।

यह भी पढ़े :
विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ?भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???