Patrika Hindi News

इस्लामी देश मोरक्को में बुर्के पर प्रतिबंध !

Updated: IST Buqa ban
मोरक्कोमेंसुरक्षा कारणोंसेपूरा चेहरा ढंकने वाले बुर्का बहनने के साथ ही उसके उत्पादन और बिक्री पर प्रतिबंध की तैयारी चल रही है।

कासाब्लांका . सुरक्षा कारणों का हवाला देकर इस्लामी देश मोरक्को की सरकार पूरा चेहरा ढंकने वाले बुर्के पर प्रंतबंध लगाने जा रही है। खास बात ये है कि यहां पूरा चेहरा ढंकने वाले बुर्का बहनने के साथ ही उसके उत्पादन और बिक्री पर प्रतिबंध की तैयारी चल रही है। इस बाबत अब तक कोई आधिकारिक घोषणा नहीं हुई है। हालांकि, स्थानीय मीडिया रिपोट्र्स में बताया गया है कि इस उत्तर अफ्रीकी देश में इस सप्ताहांत से यह आदेश लागू किए जाने की पूरी संभावना है। मोरक्को की आर्थिक राजधानी माने जाने वाले प्रमुख व्यापारिक शहर कासाब्लांका में गृह मंत्रालय के अधिकारियों ने "व्यापारियों को इस नए निर्णय के बारे में बताने के लिए जागरुकता अभियान चलाने की बात कही है।
बताया जा रहा है कि दक्षिण मोरक्को के टारुडांट में प्रशासन ने व्यापारियों को आदेश दिए हैं कि वे बुर्के बनाना और उन्हें बेचना बंद कर दें। इसके अलावा उन्हें 48 घंटों के भीतर अपना मौजूदा स्टॉक नष्ट करने के भी आदेश दिए गए है। ऐसे ही आदेश पास के कुछ और जिलों में भी व्यापारियों को दिए जा रहे हैं।

आतंकियों ने बुर्के का किया था इस्तेमाल

एक स्थानीय न्यूज साइट ने मोरक्को के गृह मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी के हवाले से लिखा है, "हमने इस पोशाक के आयात, उत्पादन और बिक्री को सभी शहरों और कस्बों में पूरी तरह रोकने के कदम उठाए हैं"। बेबसाइट ने उसी अधिकारी के हवाले से लिखा है कि यह कदम सुरक्षा के मद्देनजर उठाया गया है क्योंकि, "हमलावरों ने बार-बार कई अपराधों को अंजाम देने के लिए इस पोशाक का इस्तेमाल किया है। कई लोगों ने इसे वैयक्तिक स्वतंत्रता पर हमला बताया है और इसे मुस्लिम लोगों के मानवाधिकारों पर चोट करार दिया है। वहीं, राजनीतिज्ञ और परिवार एवं सामाजिक विकास मंत्री रही चुकीं नुजहा स्काली ने इस बैन का स्वागत करते हुए इसे "धार्मिक अतिवाद के खिलाफ लड़ाई में एक महत्वपूर्ण कदम" बताया है।

उदारवादी हैं मोरक्को के राजा

उत्तर अफ्रीकी देश मोरक्को के वर्तमान राजा मोहम्मद छठे इस्लाम के उदार रूप के पक्षधर हैं। वे महिलाओं के लिए ऐसे हिजाब को तरजीह देते हैं, जो सिर और बाल ढकता है, लेकिन चेहरा नहीं। हालांकि, वहां ऐसे नकाब भी कई दूसरे विचारधारा वाले मुसलमानों में प्रचलन में हैं, जिसमें चेहरे में भी केवल आंखें ही खुली होती हैं। बाकी सब पर्दे से ढका रहता है। इस इलाके से हजारों जिहादी सीरिया और इराक में इस्लामिक स्टेट के लिए लडऩे गए हैं।

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ?भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???