Patrika Hindi News

नीट परीक्षा की निर्धारित आयु सीमा को चुनौती

Updated: IST NEET
याचिका में कहा गया था कि अधिकतम और न्यूनतम आयु निर्धारित करने की तिथि में समानता होनी चाहिए

जबलपुर। नेशनल एलिजिबिलिटी कम एंट्रेस टेस्ट (नीट) में शामिल होने के लिए निर्धारित की गई तिथि को चुनौती देने वाली याचिका पर गुरुवार को मध्यप्रदेश हाई कोर्ट के न्यायाधीश एस के गंगेले और ए के श्रीवास्तव की युगलपीठ ने अनावेदकों को नोटिस जारी कर जवाब मांगा है। याचिकाकर्ता दीपिका उपाध्याय की तरफ से दायर याचिका में कहा गया है कि नीट के लिए आयु सीमा निर्धारित की गई है।

निर्धारित आयु सीमा के अनुसार परीक्षा में शामिल होने के लिए न्यूनतम आयु 17 तथा अधिकतम आयु 25 वर्ष होनी चाहिए। अधिकतम आयु के लिए जन्म तिथि 8 मई 1992 तथा न्यूनतम आयु के लिए जन्म तिथि 1 जनवरी 2001 निर्धारित की गई है।

याचिका में कहा गया था कि अधिकतम और न्यूनतम आयु निर्धारित करने की तिथि में समानता होनी चाहिए। अधिकतम के लिए मई की तिथि तथा न्यूनतम माह के लिए जनवरी की तिथि निर्धारित किया जाना असंवैधानिक है। याचिका में कहा गया है कि न्यूनतम और अधिकतम उम्र सीमा के आठ वर्ष का अंतर है, तो तिथि निर्धारण में भी आठ वर्ष का अंतर होना चाहिए।

याचिका में केन्द्र सरकार के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग, मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया (एमसीआई) तथा नीट के सचिव को अनावेदक बनाया गया था। युगलपीठ ने याचिका की सुनवाई के बाद अनावेदकों को नोटिस जारी कर जवाब मांगा है।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???