Patrika Hindi News

> > > ISL 2016: Pune City play out 1-1 draw with Kerala Blasters

ISL: केरल के साथ ड्रॉ खेल घर में हार की हैट्रिक से बचा पुणे

Updated: IST ISL
एफसी पुणे सिटी ने सोमवार को आईएसएल के तीसरे सत्र के अपने चौथे मुकाबले में केरला ब्लास्टर्स को 1-1 की बराबरी पर रोक दिया

पुणे। एफसी पुणे सिटी ने सोमवार को बालेवाड़ी स्पोर्ट्स काम्प्लेक्स में खेले गए हीरो इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) के तीसरे सत्र के अपने चौथे मुकाबले में केरला ब्लास्टर्स को 1-1 की बराबरी पर रोक दिया। इस तरह पुणे ने घर में हार की हैट्रिक की शर्मनाक स्थिति को टाल दिया। इस मैच से पुणे और केरला को एक-एक अंक मिले। चार मैचो में पुणे को एक में जीत और दो में हार मिली है जबकि एक मैच बराबरी पर रहा है। यह टीम तालिका में सातवें स्थान पर पहुंच गई है।

दूसरी ओर, केरल ने अब तक पांच मैच खेले हैं और उसे सिर्फ एक मैच में जीत मिली है। दो मैच उसके बराबरी पर छूटे हैं और दो में उसे हार झेलनी पड़ी है। यह टीम पांच अंकों के साथ तालिका में पांचवें स्थान पर पहुंच गई है। मैच का पहला गोल तीसरे मिनट में केरल के सेड्रिक हेंगबार्ट ने किया। हेंगबार्ट ने यह गोल मेहताब हुसैन के कार्नर क्रास पर एजराक माहामात का प्रयास नाकाम होने के बाद किया।

दरअसल, मेहताब का क्रास सीधे बाक्स के दाएं किनारे पर खड़े एजराक के पास पहुंचा जिस पर मेहताब ने जोरदार शॉट लगाया, लेकिन वह धर्मराज रावनन द्वारा रोक ली गई। हेंगबार्ट वहीं खड़े थे और जैसे ही गेंद रावनन से लौटकर उनके पास आई हेंगबार्ट ने उसे गोलपोस्ट में भेजने में कोई गलती नहीं की।

यहां पुणे के स्टार गोलकीपर एडेल बेटे के पास कोई मौका नहीं था। बेशक केरल ने इस गोल के माध्यम से बढ़त हासिल कर ली, लेकिन इससे यह नहीं कहा जा सकता कि पहले हाफ में उसका दबदबा रहा। पुणे ने बराबरी का गोल करने के कई प्रयास किए। अगर ड्रामेन त्राओरे ने 24वें मिनट में गलती नहीं की होती तो उसी समय स्कोर 1-1 हो गया होता।

हुआ यह था कि अराता इजुमी ने बाईं ओर से एक बेहतरीन क्रास केरल के बाक्स में भेजा। कप्तान एरान ह्यूज इसका फायदा उठाने से पूरी तरह चूक गए। गेंद उन्हें छकाती हुई त्राओरे के पास जाकर गिरी। उन्हें बस गेंद को गोलपोस्ट में डालना था लेकिन त्राओरे ने इतना समय ले लिया कि जोसू कुरियास को उनका शॉट विफल करने का मौका मिल गया। मैच के 33वें मिनट में केरल के स्टार स्ट्राइकर माइकल चोपड़ा को पीला कार्ड दिखाया गया।

इसी तरह पहले हाफ के इंजुरी टाइम में कप्तान मोहम्मद सिसोको को गोल करने का अच्छा अवसर मिला लेकिन हेंगबार्ट ने उन्हें बाधित कर दिया। हेंगबार्ट को धक्के से सिसोको जरूर गिर पड़े और पेनाल्टी का मांग की लेकिन रेफरी ने उसे नकार दिया। यह सिलसिला यहीं नहीं रुका। 56वें मिनट में केरल के गोलकीपर संदीप नंदी ने साथी खिलाड़ी जोसू कुरियास के गलत पास पर अच्छा बचाव किया। अगर संदीप चूकते तो त्राओरे ने गोल कर दिया होता। दो मिनट बाद ही रावनन ने एक बेहतरीन क्रास केरल के बाक्स में भेजा, जिसे त्राओरे को सिर्फ हेडर के जरिए गोलपोस्ट में डालना था लेकिन वह लगातार तीसरे मौके पर चूक गए।

दूसरे हाफ में लगातार हमले कर रही पुणे की टीम को 68वें मिनट में आखिरकार सफलता मिल ही गई। यह सफलता उसे कप्तान सिसोको ने दिलाई। लीवरपूल और जुवेंतस जैसी दिग्गज टीमों के लिए खेल चुके सिसोको ने 68वें मिनट में एक बेहतरीन वॉली के दम पर अपनी टीम को बराबरी दिला दी। कप्तान ह्यूज ने इसे रोकने की कोशिश की लेकिन गेंद उनसे डिफलेक्ट होकर गोलपोस्ट में घुस गई।

केरल ने हालांकि पांच मिनट बाद ही जवाबी कार्रवाई की लेकिन पुणे के गोलकीपर एडेल बेटे ने फारुख चौधरी के इस प्रयास को पूरी तरह नाकाम कर दिया। जवाब में पुणे ने 78वें मिनट में जोरदार हमला किया लेकिन त्राओरे एक बार फिर अपनी टीम के लिए सफल योगदान नहीं दे सके।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!

Latest Videos from Patrika

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???