Patrika Hindi News

> > > ISL: goa won the match against chennai

आईएसएल : चेन्नई पर गोवा की सम्मानजनक जीत में चमके साहिल

Updated: IST sahil
साहिल तावोरा द्वारा 94वें मिनट में किए गए एक बेहतरीन गोल की मदद से एफसी गोवा ने गुरुवार को यहां के जवाहरलालनेहरू स्टेडियम में खेले गए हीरो इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) के तीसरे सीजन के अपने अंतिम लीग मैच में मौजूदा चैम्पियन चेन्नयन एफसी को 5-4 सेहरा दिया।

फोतोर्दा (गोवा)। साहिल ने सम्मान की इस लड़ाई में संजय बालमूचू द्वारा दिए गए लम्बे पास पर बेहतरीन फुटबाल का नजारा पेश करते हुए अंतिम मिनट में अपनी टीम कोसम्मान की जीत दिलाने वाला गोल किया। इस जीत के साथ गोवा ने बीते साल के फाइनल में चेन्नई से मिली हार का हिसाब बराबर कर लिया।

यह 14 मैचों में गोवा की चौथी जीत है जबकि चेन्नई को पांचवीं हार मिली है। इस जीत के बाद भी गोवा ने आठ टीमों की तालिका में अंतिम स्थान पर रहतेहुए तीसरे सीजन का समापन किया। चेन्नई की टीम अंतिम रूप से सातवें स्थान पर रही।

इस हाई स्कोरिंग मैच का पहला गोल जेरी लालरिनजुआला ने चौथे मिनट में एक बेहतरीन फ्रीकिक पर किया। चेन्नई की टीम पहले गोल का जश्न ठीक से मनाभी नहीं पाई थी कि रफाएल कोएल्हो लुइज ने जोफ्रे मातेयू के पास पर छठे मिनट में गोल करते हए स्कोर 1-1 कर दिया।

इसके बाद चेन्नई को उस समय एक गोल तोहफे के तौर पर मिला जब ग्रेगरी अर्नोलिन ने 13वें मिनट में गलती से अपनी टीम के ही खिलाफ गोल कर दिया।चेन्नई के लिए यह शानदार तोहफा था और इसकी बदौलत वह 2-1 से आगे हो चुका था।

उसकी खुशी हालांकि इस बार भी अधिक देर तक नहीं टिक सकी क्योंकि मातेयू ने 21वें मिनट में हासिल पेनाल्टी पर गोल करते हुए गोवा को एक बार फिरबराबरी पर ला दिया। स्कोर अब 2-2 हो चुका था।

मैच अपने रोमांच में लौट चुका था और दोनों टीमों ने एक बार फिर आगे निकलने की होड़ शुरू कर दी थी। इस क्रम में सफलता चेन्नई को मिली। डुडुओमागबेमी ने 28वें मिनट में गोल करते हुए चेन्नई को एक बार फिर आगे कर दिया। डुडु ने यह गोल डेनियल लाललिम्पुइया के शानदार पास पर किया।

मध्यांतर तक यही स्कोर रहा। मध्यांतर के बाद गोवा ने बराबरी का भरपूर प्रयास किया लेकिन चेन्नई के डिफेंडरों ने उसे हर बार नाकाम कर दिया। 68वेंमिनट में हालांकि साहिल ने एक बेहतरीन गोल की मदद से गोवा को बराबरी पर ला दिया।

एक बार फिर यह मैच दोनों टीमों के लिए खुल चुका था। अब गोवा की टीम भी आत्मविश्वास से भर चुकी थी। उसने 76वें मिनट में एक जोरदार और सफलहमला करते हुए बढ़त हासिल कर ली। गोवा के लिए चौथा और मैच का सातवां गोल लुइज ने त्रिंदादे गोनकाल्वेस के पास पर किया।

अब हाईस्कोरिंग मैच को रोमांचक तो होना ही था। चौथा गोल खाने के बाद एक बार भी ऐसा नहीं लगा कि चेन्नई बैकफुट पर गई है क्योंकि उसके पास खोने केलिए कुछ भी नहीं था। जो हासिल करना था, वह सम्मान था।

इसी क्रम में उसने 88वें मिनट में एक जोरदार हमला किया। इस हमले का फायदा यह हुआ कि उसे गोवा की डिफेंसलाइन की गलती के कारण पेनाल्टी मिला,जिसे जॉन रीस ने सफलतापूर्वक

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!

Latest Videos from Patrika

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???