Patrika Hindi News

> > > > Gariaband: earning extra fee to students in the name of open school exam

ओपन स्कूल की परीक्षा फीस के नाम छात्रों से शिक्षक वसूल रहे मनमानी रकम

Updated: IST earn extra fee in the name of examination fee
राजिम में ओपन परीक्षा फॉर्म में शासन द्वारा निर्धारित से अधिक राशि 300 से अधिक बच्चों से लेने का मामला सामने आया है। इसकी शिकायत डीईओ से करने पर प्राचार्य को नोटस जारी कर जवाब मांगा गया है

गरियाबंद/राजिम. राजिम में ओपन परीक्षा फॉर्म में शासन द्वारा निर्धारित से अधिक राशि 300 से अधिक बच्चों से लेने का मामला सामने आया है। इसकी शिकायत डीईओ से करने पर प्राचार्य को नोटस जारी कर जवाब मांगा गया है।

राजिम भाजयुमो के मंडल अध्यक्ष प्रवीण पुष्पाकर ने बताया कि शासकीय उच्चतर माध्यमिक बालक शाला राजिम में ओपन परीक्षा फॉर्म भर रहे छात्रों से अधिक राशि लिए जाने की शिकायत मिलने पर स्कूल पहुंचे। मौके पर उन्होंने देखा कि छात्रों से शासन द्वारा निर्धारित राशि से 125 अधिक यह कहकर लिया जा रहा है कि परीक्षा देने पहुंचने पर वापस कर दिया जाएगा। इसके अलावा स्कूल के बाबू द्वारा 200 से 250 रुपए छात्रों लिए जा रहे थे। लगभग 300 से अधिक छात्रों से पैसे लिए गए।

अधिक पैसे लेने को लेकर वहां मौजूद शिक्षकों से जानकारी मांगने पर गोल-मोल जवाब देने लगे। जवाब से संतुष्ट नहीं होने पर इसकी शिकायत डीईओ से की गई, जिस पर उन्होंने कार्रवाई करने की बात कही है। इस दौरान हीरालाल सोनकर, प्रवीण पुष्पाकर, तुषार कदम, टंकू सोनकर, रिकेश साहू, धमेंद्र यादव, संतोष सिन्हा, नीरज दुबे, हरीश सोनकर, अनिल दुबे, मनीष दुबे, मनीष निर्मलकर, कैलाश कण्डरा, गोविन्द दुबे, ओमप्रकाश देवांगन, लकी सोनकर, अजय नागरची, योगेश यादव, अजय यादव उपस्थित रहे।

डीईओ एमएल सोनवानी ने बताया कि दोपहर में मुझे जानकारी मिली कि ओपन परीक्षा का फॉर्म भरने वाले बच्चों से शासन द्वारा निर्धारित राशि से अधिक लिए जा रहे हैं। शिकायत मिलने पर तत्काल फोन से संस्था के प्राचार्य को फटकार लगाई कि किसी भी छात्रों से अधिक राशि लेने का अधिकार नहीं है। आप किस अधिकार से अधिक राशि ले रहे हो? फिलहाल नोटिस जारी कर जवाब मांग हूं। जवाब आने पर आगे की कार्रवाई की जाएगी।

अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!

Latest Videos from Patrika

Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???