Patrika Hindi News

> > > > Mahasamund: cross 3.60 lacs from account by phone call

फोन पर बोला, ATM का नंबर बताओ और खाते से उड़ा दिया 3.60 लाख

Updated: IST ATM fraud
पूर्णिमा पटेल के खाते से तीन लाख 60 हजार रुपए अज्ञात असामाजिक तत्व ने एटीएम के जरिए पार कर दिया।

गरियाबंद. बैंक उपभोक्ताओं के मोबाइल नंबर में कई बार ऐसे मैसेज आते हैं, जिसमें बैंक द्वारा यह साफ कहा जाता है कि आपके एटीएम कार्ड का पासवर्ड या अन्य जानकारी फोन पर किसी को न दें, क्योंकि बैंककर्मी कभी भी इस संबंध में आपको फोन करके जानकारी नहीं पूछते, फर्जी कॉल से सतर्क रहें। वहीं नोटबंदी के फैसले के बाद भी शासन-प्रशासन कैशलैस सिस्टम पर जोर दे रही है। बावजूद इसके आज भी ग्रामीण इलाकों में रहने वाले भोलेभाले परिवारों से कुछ अज्ञात लोग फोन कर जानकारी मांगकर उनके खाते से लाखों रुपए पार कर देते हैं। ये अज्ञात चोर इतने शातिर होते हैं कि आपके एटीएम कार्ड के तीन अंकों वाले सीवीवी कोर्ड से ही नकदी पार करने में सक्षम होते हैं। राजिम थाना क्षेत्र के रांवड़ में ऐसा ही एक मामला प्रकाश में आया है। यहां एक पटेल परिवार की महिला पूर्णिमा पटेल के खाते से तीन लाख 60 हजार रुपए अज्ञात असामाजिक तत्व ने एटीएम के जरिए पार कर दिया।

ऐसे दिया गड़बड़ी को अंजाम :गुरुवार शाम को पत्रिका संवाददाता से चर्चा करते हुए पूर्णिमा के पति चंद्रशेखर पटेल ने बताया कि पत्नी केअकाउंट नं. 33744910798 में 14 सितंबर को एलआईसी का पैसा 3 लाख 75 हजार रुपए आया था। खाते में पहले से 419 रुपए थे। इसके अलावा 14 सौ रुपए डिलीवरी का जमा हुआ। 23 सितंबर को एटीएम से 5 हजार रुपए निकाला, उसके बाद 5 अक्टूबर को 10 हजार रुपए निकाले, बाकी 3 लाख 60 हजार रुपए को यह सोचकर नहीं निकाला कि जब काम पड़ेगा तब निकालेंगे। इस बीच किसी अज्ञात तत्व, जिसका मोबाइल नंबर 8051443781 है इससे मेरे मोबाइल नं. 9691348632 में फोन आया कि मैं स्टेट बैंक से बोल रहा हूं। आपका एटीएम ब्लॉक होने वाला है। रजिस्टे्रशन कराना पड़ेगा। लिहाजा एटीएम का सीरीज नंबर बताओ। तब मैंने उन्हें सीरिज नंबर तो बता दिया, लेकिन कोड नंबर नहीं बताया। बावजूद इसके खाते से 3 लाख 60 हजार रुपए अज्ञात तत्व ने निकाल लिए। वहीं राजिम में इस घटना को लेकर चर्चा का विषय बना रहा।

खाते में मात्र 4 रुपए शेष
एटीएम से निकालने का यह सिलसिला 8 अक्टूबर से लेकर 15 नवंबर तक चला। अंत में खाते में मात्र 4 रुपए शेष बचे। लगातार एक महीने-एक सप्ताह तक यह राशि किस्तों में निकलती रही, लेकिन ग्रामीण इलाके में रहने वाले इस परिवार को जरा भी भनक नहीं लगी। मामले का खुलासा तब हुआ जब रुपयों की जरुरत हुई और पैसे निकालने के लिए पीडि़त महिला व पति नवापारा स्टेट बैंक पहुंचे। यहां खाता नंबर देखकर कैशियर ने बताया कि खाते में सिर्फ 4 रुपए शेष हैं। इतना सुनते ही दंपत्ति के पैरों तले जमीन खिसक गई। बहरहाल अज्ञात आरोपी का मोबाइल नंबर अब बंद है। पुलिस में रिपोर्ट करने पीडि़ता का पति गुरुवार को राजिम थाना पहुंचा था, परंतु टीआई पीपी सिंग मीटिंग के लिए जिला मुख्यालय में थे, इसलिए रिपोर्ट दर्ज नहीं हो सका। थाने में मौजूद पुलिस के जवान ने कहा कि शुक्रवार को सुबह आओ तब टीआई साहब से मुलाकात होगी। वे आज सुबह 10 बजे थाना पहुंचकर पूरी जानकारी टीआई साहब को देंगे।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!

Latest Videos from Patrika

Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???