Patrika Hindi News

सावधान! स्थानीय टैक्स के नाम पर चल रहा है अवैध वसूली का खेल, जरा भी शक हो तो बुलाएं पुलिस, वीडियो में देखें  पूरा मामला

Updated: IST  tax evasion
मुरादनगर थाना क्षेत्र के सुराना पुल के पास जिला पंचायत का बोर्ड लगाकर कुछ ऐसे लोगों को पकड़ा गया है, जो जिला पंचायत की फर्जी पर्ची के जरिए ट्रकों से अवैध उगाही कर रहे थे।

तेजस चौहान/गाजियाबाद. मुरादनगर थाना क्षेत्र के सुराना पुल के पास जिला पंचायत का बोर्ड लगाकर कुछ ऐसे लोगों को पकड़ा गया है, जो जिला पंचायत की फर्जी पर्ची के जरिए ट्रकों से अवैध उगाही कर रहे थे। फर्जी पर्ची की सूचना के बाद मौके पर पहुंचे जिला पंचायत सदस्य विकास यादव ने 100 नं. पर कॉल कर पुलिस को बुला लिया। पुलिस की मौजूदगी में ग्रामीणों की मदद से उन लोगों को पकड़ा गया, जो उगाही कर रहे थे।
वैध नियम का अवैध इस्तेमाल
रोड़ी-बदरपुर भरकर रोड़ पर चलने वाले ट्रकों से जिला पंचायत वैध तरीके से पर्ची के जरिए टैक्स की वसूली करता है। वसूली करने के लिए बाकायदा ठेकेदार को हायर किया जाता है। लेकिन यहां सब कुछ अवैध तरीके से किया जा रहा था। ट्रक वालों से पैसे लेने के बाद जो पर्ची दी जा रही थी, वो सब फर्जी थीं। मौके पर मौजूद जिला पंचायत सदस्य विकास यादव ने बताया कि प्रति ट्रक 200 रुपए की पर्ची काटी जा रही थी।

यहां से 500 ट्रक गुजरते हैं रोज
विकास के मुताबिक इस रोड पर प्रतिदिन रोड़ी-बदरपुर से लदे तकरीबन 500 ट्रक गुजरते हैं। उन्होंने बताया कि पिछले एक सप्ताह से अवैध तरीके से वसूली करने की सूचनाएं मिल रही थीं। उन्होंने बताया कि वो जब मौके पर पहुंचे तो पुलिस की मौजूदगी में उन्होंने जिला पंचायत के किसी अधिकारी से बात की। जिन्होंने बताया कि अभी तक जिला पंचायत से न तो किसी ठेकेदार को नियुक्त किया गया है और न ही यहां से कोई पर्ची आवंटित की गई है।

जिला पंचायत पदाधिकारियों का वसूली से इनकार
पत्रिका संवाददाता तेजस चौहान ने जिला पंचायत के अपर मुख्य अधिकारी देशराज सिंह से इस संबंध में बात की। एक बार तो उन्होंने इस पूरे घटनाक्रम की जानकारी होने से इनकार कर दिया। लेकिन पूरा मामला बताने के बाद उन्होंने बताया कि अभी तक जिला पंचायत ने किसी भी ठेकेदार को नियुक्त नहीं किया है और न ही यहां से कोई पर्ची आवंटित की है। ऐसे में अगर कोई जिला पंचायत का बोर्ड लगाकर पंचायत की पर्ची पर वसूली कर रहा है तो वह निश्चित रूप से अवैध है। उन्होंने यह भी कहा कि वो जल्द ही इस मामले की जांच कराएंगे और जो भी दोषी पाए जाएंगे, उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

दिन दहाड़े अवैध उगाही संदेह के घेरे में
उधर जिला पंचायत सदस्य विकास यादव की बातों पर यकीन करें तो उन्होंने मुरादनगर थाने में फर्जी पर्ची के जरिए वसूली करने वालों के खिलाफ तहरीर दे दी है। ग्रामीणों की मदद से एक व्यक्ति को पुलिस ने गिरफ्तार भी कर लिया है। इस पूरे घटनाक्रम में मजेदार बात यह है कि दिन दहाड़े अवैध उगाही करना और विभागीय अधिकारियों तथा पुलिस को पता न चलना संदेह पैदा करता है। अगर ठीक तरीके से जांच हो तो संभव है कि कुछ विभागीय अधिकारियों या कर्मचारियों और अन्य लोगों की भी इसमें संलिप्तता उजागर होगी।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को भारत मैट्रीमोनी पर साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???