Patrika Hindi News

भाजपा के मंत्री ने अपने ही पार्टी के लोगों के काम पर उठाए सवाल, कहा... 

Updated: IST mayank Goyal
जानें क्या है पूरी खबर

गाजियाबाद। हॉटसिटी में पैठ बाजार के नाम पर चल रहे विवाद में अब भारतीय जनता पार्टी की मुश्किलें बढ़ती नजर आ रही है। भाजपा के पार्षद और व्यापारियों के एकजुट होकर विरोध करने पर अब दो लॉबी बनकर तैयार हो गई है। इनमें एक व्यापारियों की दो दूसरी पैठ बाजार के छोटे व्यापारियों की। इससे पहले दुकान हटवाने के नाम में महानगर अध्यक्ष भी विवादों में घिर चुके है।

इस मामले में अब भाजपा के क्षेत्रीय मंत्री मंयक गोयल ने अपनी ही पार्टी के महापौर पर निशाना साधते हुए इशारों ही इशारों में काम करने के रैवेय पर सवाल खड़े किए हैं। नगर निगम के पिछले मेयरों का हवाला देते हुए क्षेत्रीय महामंत्री का कहना है कि पिछले मेयरों ने हमेशा गरीबों का साथ दिया न की उनके कारोबार को उजाड़ने का काम किया।

29 दुकानों के लिए हटाया जा रहा है नवुय मार्केट का बाजार

क्षेत्रीय महामंत्री मंयक गोय़ल के मुताबिक नवय़ुग मार्केट में लगने वाले पैठ बाजार से किसी को कोई परेशानी नहीं होनी चाहिए। रविवार का दिन होने की वजह से वहां पर सभी लोहे की दुकानें और बैंक बंद रहते है। केवल 29 दुकाने खुलती है इनकी वजह से किसी के व्यापारों को खत्म नहीं किए जाना चाहिए।

पिछले मेयरों के कार्यकालों में नहीं हटाई गई दुकाने

नगर निगम के वर्तमान मेयर आशु वर्मा पर निशाना साधते हुए भाजपा नेता मंयक गोयल का कहना है कि पहले बाबा हरदेव सिंह के समय में भी बाजार को लेकर आवाज उठी थी। लेकिन स्व. दिनेश चंद गर्ग और स्व. दमयंती गोयल ने गरीबों का साथ देते हुए उनके कारोबार को ठप्प नहीं होने दिया। तब मंगलवार की जगह रविवार को बाजार लगवाया गया।

गरीबों को हटाना भाजपा की नीति नहीं

पैठ बाजार को खत्म किए जानें को लेकर क्षेत्रीय मंत्री का दावा है कि गरीबों को हटाना भाजपा की नीति में शामिल नहीं है। सरकार हमेशा से गरीबों के साथ में खड़ी रही है। अगर बाजार को यहां से हटाएं जाना जरूरी है तो पहले उनके लिए कोई दुसरा स्थान मुहैया कराए जाना चाहिए। इस मामले में जनप्रतिनिधि और मेयर की चुप्पी सहीं नहीं है, उन्हे अपने फैसले पर दोबारा से विचार करना चाहिए।

अपने विवाह के सपने को भारत मैट्रीमोनी पर साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???