Patrika Hindi News

दबिश देने गए क्राइम ब्रांच के सिपाहियों पर जानलेवा हमला

Updated: IST police
मामला दर्ज कर पुलिस ने शुरू की आरोपियों की तलाश

गाजियाबाद। क्राईम ब्रांच के दो सिपाहियों के साथ लोगों ने उस वक्त मारपीट की जब वे एक अपरा​धी को पकड़ने के लिए गये थे। वाकया साहिबाबाद थाना क्षेत्र के पसौंड़ा गांव का है। विजयनगर थाने में तैनात सिपाही विपिन ज्वाला और आकाश शनिवार देर रात जब पसौंडा गांव में किसी संदिग्ध की तलाश में पहुंचे तो पहले पहल तो स्थानीय लोगों में से कुछ ने तो ऐसी जानकारी देने से मना कर दिया। इसके बाद जब उन दोनों ने अपने आईकार्ड दिखाकर उनसे संदिग्ध का पता ठिकाना पूछा तो कहीं जा कर वे कुछ बताने को राजी हुए। क्राइम ब्रांच के सिपाही अभी लोगों से संदिग्ध के बारे में डिटेल खंगाल ही रहे थे कि तभी हथियारों से लैस छह से अधिक लोगों ने उन पर हमला कर दिया।

अचानक हुआ जानलेवा हमला

अचानक हुए हमले के बाद दोनों सिपाहियों ने भागने की कोशिश की लेकिन तब तक हमलावरों ने उन्हें घेर लिया। सिपाहियों का आरोप है कि इसके बाद स्थानीय लोगों ने उनके साथ जमकर मारपीट की। बड़ी मुश्किल से उन्होंने इस पूरे वाकये की सूचना 100 नंबर पर दी। इसके बाद मौके पर पहुंच पुलिस ने उनकी जान बचाई। गंभीर रूप से घायल दोनों सिपाहियों को एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पीड़ित सिपाही की तहरीर पर साहिबाबाद थाने में पांच लोगों के खिलाफ नामजद व आधा दर्जन से अधिक अज्ञात लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई गई है। हमले के सभी आरोपी फरार हैं। पुलिस उनकी तलाश में जुट गई है।

पुलिस की जांच में सामने आया सच

सूत्रों के मुताबिक क्राइम ब्रांच के दोनों सिपाही बगैर स्थानीय पुलिस को सूचना दिए दबिश डालने गए थे। अहम बात यह भी कि दोनों सिपाही सादी वर्दी में थे। पुलिस की शुरूआती जांच में पाया गया है कि विवाद कार हटाने को लेकर हुआ। खबर है कि आरोपी पक्ष के लोग कार लेकर आ रहे थे वहीं दूसरी तरफ पीड़ित सिपाही कार लेकर खड़े थे। आरोपियों ने पुलिस वालों से कार हटाने को कहा। जिसे लेकर विवाद शुरू हुआ और मामला इतना बढ़ा कि मारपीट की नौबत आ गई। आरोपियों द्वारा पीटे जाने के बाद दोनों पुलिस वालों ने अपनी सरकारी पिस्टल से गोली चलाने की धमकी दी तो स्थानीय लोगों ने उनकी पिस्टल को लूटने का प्रयास किया। हालांकि पिस्टल के बल पर वे अपनी जान बचाने में कामयाब हो गए।

खोज रहे थे संदिग्ध का सुराग

क्राइम ब्रांच के दोनों सिपाही किसी संदिग्ध नंबर की जानकारी लेने के लिए पसौंड़ा गांव आए थे। नंबर की कॉल डिटेल और लोकेशन के हिसाब से वह दबिश देना चाहते थे। प्रभारी निरीक्षक सुधीर त्यागी के अनुसार पीड़ित सिपाही विपिन की शिकायत पर पसौंड़ा निवासी मुस्तकीम, शमशाद, साजिद, नदीम उर्फ काला और राजू के अलावा छह अज्ञात लोगों के खिलाफ मारपीट, सरकारी काम में बाधा पहुंचाना, लूट के प्रयास सहित गंभीर धाराओं में रिपोर्ट दर्ज कर ली गई है। साथ ही साथ पुलिस आरोपियों की तलाश में जुट गई है।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को भारत मैट्रीमोनी पर साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???