Patrika Hindi News
Bhoot desktop

नोटबंदी: व्यापारी बोले, देशहित के लिए कुछ दिन नुकसान झेलने को भी तैयार

Updated: IST demonetization
नोटबंदी पर इंडस्ट्रीज और ट्रेडर्स कारोबारियों ने किया मोदी के फैसले का समर्थन

गाजियाबाद। हजार—पांच सौ रुपए के नोटबंद किए जाने को लेकर जहां विपक्ष मोदी सरकार को घेरने की कोशिश में लगा है। वहीं आम जनता इसके उल्टा चल रही है। छोटे दुकानदारों के भारतबंद का मुंह तोड़ जबाव देने के बाद में अब व्यापारियों ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के फैसले का स्वागत किया है। कारोबारियों का मानना है कि देश के हित में व्यवस्था बदल रही है। अगर व्यवस्था के एवज में कुछ दिन नुकसान होता है तो उसे भी सहने में वो पीछे नहीं हटेगें।

बैंक और डाकघर में बढ़ने चाहिए काउंटर

इंडस्ट्री एंड ट्रेडर्स वेलफेयर एसोसिएशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष महेश कुमार आहुजा के मुताबिक नोटबंदी से आंतकवादियों को बड़ा नुकसान हुआ है। कालाधन रखने वाले के मुंह पर ये तंमाचा पड़ा है। रिजर्व बैंक नए नोटों की आपूर्ति कर रहा है। कुछ भ्रष्ट कर्मचारियों की वजह से ही लोगों को दिक्कत हो रही है। बेहतर होगा कि इन लोगों पर नकेल कसी जाए। इसके अलावा बेहतर होगा कि सरकार बैंक और डाकघरों में अतिरिक्त काउंटर की व्यवस्था करे। जिन बैंकों पर आरोप लग रहे है उनके कर्मचारी और मैनेजर की जांच होनी चाहिए।

नुकसान को सहने के लिए पूरी तरीके से तैयार

एसोसिएशन के संगठन मंत्री प्रिंस कंसल के मुताबिक एसोसिएशन ने एक बैठक की। इसमें सभी कारोबारियों ने हमारा समर्थन किया। पीएम मोदी देश हित को ध्यान में रखते हुए रोज अपने फैसले को बदलकर राहत देने की कोशिश कर रहे हैं। सूक्ष्म और लघु इंड्स्ट्री को इससे दिक्कत आ रही है। लेकिन देश के निर्माण में उठे कड़े कदम के लिए हम तैयार हैं। बशर्ते केन्द्र सरकार कुछ अच्छे कदम कारोबारियों के हित में ले।

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???