Patrika Hindi News
Bhoot desktop

वोट के बदले नोट की गाजियाबाद में चल रही तैयारी, पढ़ें पूरी खबर

Updated: IST note
गिरफ्त में आरोपियों ने किए कई चौंकाने वाले खुलासे

गाजियाबाद। यूपी में चुनाव की सुगबुहाट के साथ ही वोट के बदले नोट का काम शुरू हो गया है। गुरुवार को गाजियाबाद में पांच करोड़ से अधिक की करेंसी पकड़ी गई। जांच एजेंसियों ने जब पूछताछ की तो आरोपियों ने जो बताया वो बेहद चौंकाने वाला था। पुलिस के मुताबिक नोटबंदी के बाद में रकम को एनआरआई के जरिए बदला जा रहा है। इसकी एवज में पचास प्रतिशत तक का कमीशन गैर भारतीयों को दिया जा रहा है। इनकम टैक्स विभाग और जांच एजेंसी अब महानगर से जुड़े हुए एनआरआई को तलाश रही है।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने देशभर के लोगों को नोटबंदी में हजार पांच सौ रुपये के पुराने नोट को बदलवाने के लिए 31 दिसम्बर तक का समय दिया था। इसके बाद में सिर्फ एनआरआई को बैंक में रुपया जमा कराने की छूट दी गई थी। बैंक के आकड़े बताते हैं कि हॉटसिटी में इस तरीके के बेहद कम ही मामले रहे हैं। जिनमें उनके कम ही लोगों ने करेंसी को एक्सचेंज कराया है।

चुनाव आते ही एक्टिव हुए गैंग

करेंसी एक्सचेंज के कारोबार में लगे लोगों चुनाव को भुनाने के लिए विदेश में रह रहे लोगों का साथ ले रहे हैं। पुलिस और जांच एजेंसी के सूत्रों के मुताबिक अभी भी काफी संख्या में कालाधन मार्केट में है। इसे विदेश में रह रहे लोगों के जरिए ही बदलवाया जा रहा है।

ऐसे हुआ खुलासा

शालीमार गार्डन एक्सटेंशन में पुलिस ने तीन लोगों को गिरफ्तार किया था। इनमें चड़ीगढ के पंचकूला, दिल्ली के प्रॉपटी डीलर और गाजियाबाद का एक लोकल रेजीडेंट पुलिस ने 31 लाख 35 हजार रुपये की नकदी, कार के साथ में पकड़ा था।

पूछताछ में ये स्वीकारा

परमजीत सिंह, रिषी कपूर और रवींद्र से पुलिस और जांच एजेंसी ने पूछताछ की तो उन्होंने बताया कि 1000 और 500 के बैन नोट अतुल नाम के शख्स तक पहुंचाने थे। अतुल ही वो शख्स था कि जो 31 लाख 65 हजार रुपए की बैन करेंसी के बदले इन लोगों को नई करेंसी देने वाला था।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को भारत मैट्रीमोनी पर साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???