Patrika Hindi News

> > > > Doctors not provide treatment of patients in Babu Sharan District Hospital

UP Election 2017

जंग खा रही सीवीसी व सीटी स्कैन मशीन, इलाज के अभाव में मौत का सफर

Updated: IST doctor
दो फिजीशियन डाक्टरों के मेडिकल पर चले जाने के बाद अस्पताल में भर्ती मरीज तड़प रहे हैं।

गोण्डा। मण्डल का लाइफ लाइन बाबू ईश्वर शरण जिला चिकित्सालय इन दिनों वेन्टीलेटर पर चला गया है। दो फिजीशियन डाक्टरों के मेडिकल पर चले जाने के बाद अस्पताल में भर्ती मरीज तड़प रहे हैं। बीते सोमवार को अस्पताल में एक वृद्ध की मौत इलाज के अभाव में मौत हो गयी। परिजनों का आरोप है कि अस्पताल के डाक्टरों ने मरीज को न तो जैन किया और न ही रिफर हालत बिगड़ने पर अस्पताल से बाहर निकाल दिया गया और परिसर 1 घण्टे बाद मौत हो गयी।

बताते चले कि रुपईडीह विकास खण्ड के गांव असिधा निवासी मुन्नालाल 60 वर्ष को गत 5 दिन पूर्व अस्पताल में भर्ती कराया गया था वे अस्थमा रोग से पीड़िता थे। आरोप है कि भर्ती करने के बाद एक बार पर्चा लिखा गया उसके बाद कोई डाक्टर झांकने तक नही आया ड्यूटी पर तैनात नर्स वही दवा खिलाने की सलाह देती रही। स्वास्थ में सुधार न होने पर जब रिफर के लिए कहा गया तो रिफर भी नही किया गया सोमवार की रात्रि में जब हालत बिगड़ी तो आनन-फानन में अस्पताल सेरात्रि में हो बाहर कर दिया और परिसर में मौत हो गयी।

जंग खा रही सीवीसी व सीटी स्कैन मशीन
जिला अस्पताल को शासन से लगातार सर्जिकल आक्सीजन यूनिट ब्लड काउन्ट मशीन डायलेसिस के लिए 10 बेड जैसे सौगात की घोषणा स्वयं मुख्य सचिव ने किया है कि एक माह के अन्दर ये सारी मशीने उपलब्ध हो जायेगी, लेकिन उनके जाते ही अस्पताल वेन्टीलेटर पर पहुंच गया। हालत यह है कि मण्डल की इकलौती सीटी स्कैन मशीन एक पखवारे से खराब चल रही है। सीवीसी मशीन भी दगा कर गयी। अब मरीजों को जांच की बात छोड़िये अब तो अस्पताल में मरीजों के लिए फिजीसियन तक उपलब्ध नही है।

क्या कहते हैं सीएमएस
इस सम्बन्ध में सीएमएस डा. रतन कुमार ने बताया कि दो फिजीशियन मेडिकल पर फिर भी उनके जगह पर अन्य डाक्टरों की ड्यूटी लगाई जा रही है। इलाज के अभाव में हुई मौत को उन्होंने सिरे से खारिज कर दिया। मशीनों के खराब होने पर उन्होंने कहा कि रिमान्डर भेजा गया।

अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!

Latest Videos from Patrika

Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???