Patrika Hindi News
UP Election 2017

पिटाई से क्षुब्ध बालिका ने की खुदकुशी

Updated: IST
दही खाने को लेकर पड़ोसियों ने की थी पिटाई,शत्रुघ्नपुर गांव की है घटना

गोरखपुर. शत्रुघ्नपुर गांव में 10 वर्षीय बेटी की कीटनाशक पीने से मौत हो गई। बालिका ने पड़ोसी के घर रखी दही चुपके से खा लेने पर पड़ोसियों ने बच्ची की पिटाई कर दी। जिससे क्षुब्ध दस वर्षीय बालिका ने खुदकुशी कर ली। पिटाई के आरोपी पड़ोसी के एक करीबी ने बालिका के पिता को गुमराह कर शव का आनन-फानन दाह संस्कार करा दिया। मंगलवार को मृतका प्रियंका के पिता की तहरीर पर पुलिस ने चार लोगों के खिलाफ नामजद मुकदमा दर्ज किया है।

रूदल की बेटी प्रियंका (10) कक्षा चार की छात्र थी। वह किसी काम से पड़ोसी सुभाष के घर गई। संयोगवश उस समय घर में कोई मौजूद नहीं था। प्रियंका की नजर घर में रखी दही पर पड़ी, तो वह खुद को रोक नहीं सकी और दही निकाल कर खाने लगी। इसी बीच सुभाष के परिवार के लोग आ गए। उन्होंने उसे दही खाते देख लिया और उसकी पिटाई शुरू कर दी। घर में बंद कर उसे बुरी तरह से पीटने के बाद दरवाजे पर पेड़ में बांधकर भी मारापीटा।

जानकारी होने पर पहुंचे परिजन और ग्रामीण प्रियंका को छुड़ाकर घर ले आए। उसकी नाक और कान से खून निकल रहा था। पिटाई से वह इतनी क्षुब्ध थी कि मौका मिलने पर उसने घर में रखा कीटनाशक पी लिया। इस बारे में पता चलने पर परिजन रात में आठ बजे उसे सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र चौरीचौरा ले गए। प्राथमिक उपचार के बाद डाक्टर ने उसे घर ले जाने की सलाह दी। रास्ते में उसकी हालत फिर खराब हो गई। दोबारा उसे सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र ले जाया गया। रात में एक बजे के आसपास उसने दम तोड़ दिया। उधर बालिका की पिटाई करने वाले पड़ोसी को उसकी मौत की सूचना मिली।

उन्होंने एक करीबी को बालिका के पिता के पास भेजा। आरोपियों का करीबी ने प्रियंका के पिता को बरगला कर न केवल तैयार कर लिया बल्कि खुद सहयोग कर भोर में ही दाह संस्कार भी करा दिया। मंगलवार को गांव के लोगों के कहने पर प्रियंका के पिता ने पड़ोसी सुभाष व उनके परिवार के वासदेव तथा राजकुमार और उनके मददगार रामअवध मौर्य के खिलाफ चौरीचौरा थाने में तहरीर दी। पुलिस ने चारों के खिलाफ मारपीट और बंधक बनाने तथा साक्ष्य मिटाने का मुकदमा दर्ज किया है।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???