Patrika Hindi News

केमिकल अटैक: सीरिया में मरने वालों की संख्या 75 पहुंची, फिर हुए हवाई हमले

Updated: IST Syria chemical attack 75 death
सीरिया के उत्तरी हिस्से में हुए रासायनिक हमले में मरने वालों की संख्या 75 हो गई है। बचावकर्मियों ने हमले में जीवित बचे कई लोगों को घटनास्थल से बाहर निकाला है। अस्पतालों में बच्चों का इलाज चल रहा है। वहीं सीरिया के एक विपक्षी समूह का कहना है कि इदलिब प्रांत के खान शेखुन कस्बे पर जघन्य हमले के एक दिन बाद बुधवार को फिर से हवाई हमले हुए हैं।

बेरूत।सीरिया के उत्तरी हिस्से में हुए रासायनिक हमले में मरने वालों की संख्या 75 हो गई है। बचावकर्मियों ने हमले में जीवित बचे कई लोगों को घटनास्थल से बाहर निकाला है। अस्पतालों में बच्चों का इलाज चल रहा है। वहीं सीरिया के एक विपक्षी समूह का कहना है कि इदलिब प्रांत के खान शेखुन कस्बे पर जघन्य हमले के एक दिन बाद बुधवार को फिर से हवाई हमले हुए हैं।

ट्रंप ने ठहराया बशर सरकार को जिम्मेदार
संदिग्ध रासायनिक हमले के लिए ट्रंप प्रशासन ने सीरियाई राष्ट्रपति बशर अल असद की सरकार को जिम्मेदार ठहराया है। ट्रंप प्रशासन का कहना है कि असद के संरक्षकों, रूस और ईरान की इन मौतों को लेकर ‘अधिक नैतिक जिम्मेदारी’ बनती है।
असद प्रशासन और रूस की सरकार ने इस हमले के पीछे अपनी किसी भूमिका से इंकार किया है।
PHOTO: A video grabbed still image shows Syrian people receiving treatment after an alleged chemical attack at a field hospital in Saraqib, Idlib province, Syria, April 4, 2017.

रूस ने कहा विद्रोहियों के आयुध भंडार से फैली गैस
रूसी रक्षा मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि जब सीरियाई हवाई हमले में विद्रोहियों के एक आयुध भंडार को निशाना बनाया गया तो जहरीला रसायन फैल गया। संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में इस हमले को लेकर बुधवार को एक बैठक हुई है तथा ब्रसेल्स में 70 देशों के अधिकारी सीरिया एवं क्षेत्र के भविष्य को लेकर आयोजित सम्मेलन में शामिल हुए। सीरियाई ऑब्जरवेटरी फॉर ह्यूमन राइट्स ने कहा कि मृतकों में कई महिलाएं और बच्चे शामिल हैं। कई लोग लापता हैं ऐसे में मृतकसंख्या और बढ़ सकती है।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को भारत मैट्रीमोनी पर साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
LIVE CRICKET SCORE

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???