Patrika Hindi News

मोदी के स्वागत को इजरायली पीएम बेकरार, जुलाई में हो सकती है यात्रा 

Updated: IST Modi-Netanyahu
भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की आगामी इजरायल यात्रा का वहा के निवासी बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं। इस बात की जानकारी कोई और नहीं, बल्कि इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने स्वयं दी है।

नई दिल्ली। भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की आगामी इजरायल यात्रा का वहा के निवासी बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं। इस बात की जानकारी कोई और नहीं, बल्कि इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने स्वयं दी है। बेंजामिन ने ट्वीट करते हुए लिखा कि यहां के लोग आपका बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं। बता दें कि प्रधानमंत्री मोदी 25 साल के बाद इजरायल जाने वाले पहले भारतीय पीएम होंगे। भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इजरायल के प्रधानमंत्री को वहां की स्थानीय भाषा हिब्रू में छुट्टियों की मुबारकबाद दी थी। मोदी ने लिखा था "खाग समेख खावरिम"। इसका मतलब होता है - छुट्टियों की मुबारकबाद। मोदी के इस ट्वीट के बाद नेतन्याहू ने लिखा, "मेरे दोस्त, छुट्टी की मुबारकबाद देने के लिए शुक्रिया। इजरायल के लोग आपके ऐतिहासिक दौरे का इंतजार कर रहे हैं।"
ढ़ाई दशक बाद भारतीय पीएम की इजरायल यात्रा
पीएम मोदी की आगामी इजरायल यात्रा से 25 वर्षों का सूखा खत्म होगा। बता दें कि 1992 में इजरायल-भारत के बीच बाइलेटरल रिलेशन की शुरुआत हुई थी। इस रिलेशनशिप की शुरूआत हुए 25 वर्ष बीत चुके हैं। मगर अभी तक कोई भी भारतीय प्रधानमंत्री इजरायल की यात्रा पर नहीं गया है।

यूएन मीट में हुई थी मुलाकात
दोनो नेताओं के बीच सितंबर, 2014 में यूएन जनरल असेंबली की मीटिंग के दौरान मुलाकात हुई थी। हालांकि इससे पहले साल 2006 में नरेंद्र मोदी इजरायल की यात्रा कर चुके है। मगर तब वे गुजरात के मुख्यमंत्री की हैसियत से वहा गए थे। अभी भारत सरकार ने मोदी के इजरायल दौरे की तारीख का एलान नहीं किया है। हालांकि जुलाई में मोदी के इजरायल यात्रा पर जाने की आशंका व्यक्त की जा रही है। मगर पिछले दो वर्षों में भारत के बड़े नेता इजरायल की यात्रा कर चुके है। 2015 में प्रणब मुखर्जी और 2016 में सुषमा स्वराज इजरायल गई थीं।

टॉप थ्रीहथियारसप्लायरों में है इजरायल
हथियारों की खरीद के मामले में इजरायल भारत के टॉप तीन डिफेंस सप्लायर्स में से एक है। बीते दस साल में 10 बिलियन डॉलर की डील हासिल करने के अलावा इजरायल ने आखिर के दो सालों में हथियारों के सात कॉन्ट्रैक्ट भारत से हासिल किए हैं। इजरायल ने भारत के साथ 2 बिलियन डॉलर (करीब 12 हजार करोड़ रुपए) की डिफेंस डील पर साइन किए हैं। इसके तहत इजरायल भारत को मिसाइल डिफेंस सिस्टम देगा। इजरायल एयरोस्पेस इंडस्ट्रीज ने इस बात की जानकारी दी। इसके जरिए दुश्मनों के एयरक्राफ्ट, मिसाइल और ड्रोन्स को 70 किमी के दायरे में मार गिराया जा सकता है। भारत इजरायल से चार एरोस्टैट रडार और कुछ हमलावर ड्रोन्स भी खरीदने वाला है। बता दें कि भारतीय सेनाओं के पास इजरायल निर्मित 100 ड्रोन्स पहले से ही हैं।

फिलिस्तीन समर्थक माना जाता था भारत
एक स्वतंत्र देश के रूप में इजरायल के बनने के कुछ ही वर्षों बाद उसका पड़ोसी देश फिलिस्तीन से युद्ध शुरू हो गया था। मुस्लिम बाहुल्य फिलिस्तीन के साथ भारत की बड़ी आबादी हमर्ददी रखती है। इसी कारण भारत इन दोनों देशों के बीच लंबें समय तक तटस्थ रहा। मगर 1992 के बाद भारत ने इजरायल से अपने संबंध बनाने शुरू किए।

अपने विवाह के सपने को भारत मैट्रीमोनी पर साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
LIVE CRICKET SCORE

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???