Patrika Hindi News

> > > > ST’s meeting said collector

नौकरी नहीं दे सकते, स्व-रोजगार से जोडं़ेगे  21

Updated: IST guna
22 अक्टूबर को युवराज क्लब में लगेगा शिविर एससी, एसटी की बैठक में बोले कलेक्टर

गुना. सभी बेरोजगारों को नौकरी देना संभव नहीं है। लेकि शासन की योजनाओं के तहत ऋण उपलब्ध कराकर स्वरोजगार से लगाया जा सकता है। कलेक्टर ने यह बात अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति वर्ग के कम पढ़े लिखे एवं शिक्षित बेरोजगारों के लिए शहर में 22 अक्टूबर को लगने वाले शिविर की तैयारियों को लेकर हुई बैठक में कही। यह शिविर युवराज क्लब में 22 अक्टूबर सुबह 11 बजे से शिविर लगेगा।

इसमें निजी कम्पनियों के प्रतिनिधिओं समेत विभिन्न विभागों के अधिकारी उपस्थित रहेंगे। कलेक्टर ने बैठक में मौजूद एससी, एसटी वर्ग के सामाजिक संगठनों के प्रतिनिधियों से आग्रह किया कि 22 अक्टूबर को शहर में लगने वाले शिविर में अपने समाज के अधिक से अधिक बेरोजगार युवक-युवतियों को लेकर आएं। अगर वे प्रशिक्षित नहीं होंगे, तो उन्हें उनकी रुचि के अनुसार व्यवसाय का प्रशिक्षण दिलाकर ऋ ण दिलवाया जाएगा। इन वर्गों से अगर कोई व्यक्ति ईंट भट्टा लगाने ऋ ण लेना चाहेगा, तो उसको ऋ ण दिलवाया जाएगा। प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना के तहत जिले में बड़ी संख्या में मकानों और शौचालयों का निर्माण कराया जाएगा। जिस कारण जिले में बड़ी संख्या में र्इंटों की जरुरत पड़ेगी और इससे उनको अच्छी खासी आमदनी होगी।

कलेक्टर जैन ने कहा कि इन मकानों एवं शौचालयों के निर्माण के लिए कारीगरों की भी जरूरत पड़ेगी। अगर इसके प्रशिक्षण लेना चाहेंगे, तो उन्हें और उनके सहायकों को आवश्यक प्रशिक्षण दिया जाएगा। अगर कोई सेंटिंग के के लिए प्रशिक्षण एवं ऋ ण लेना चाहेगा, तो उसको दिया जाएगा। कलेक्टर ने अधीक्षकों को निर्देश दिए कि शिविर के लिए जरूरतमंद लोगों को न सिर्फ प्रेरित करें, बल्कि उन्हें बड़ी संख्या में शिविर में लेकर भी आएं। कलेक्टर ने बताया कि ऋण के लिए ऑनलाइन आवेदन भरवाए जाएंगे। आवेदकों को बैंकों एवं अधिकारियों के चक्कर नहीं लगाना पड़ेंगे। बैठक में जिला पंचायत सीईओ कैलाश वानखेड़े, एडीएम नियाज अहमद खान, सहायक आयुक्त आदिवासी विकास परिहार, अजा एवं अजजा संगठनों के प्रतिनिधि, आदिम जाति कल्याण विभाग के अधीक्षक उपस्थित थे।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!

Latest Videos from Patrika

Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???