Patrika Hindi News

> > > > Factionalism in Haryana Congress, Kuldeep Bishnoi told himself future CM

हरियाणा कांग्रेस: कुलदीप बिश्नोई ने खुद को बताया भावी मुख्यमंत्री

Updated: IST kuldeep vishnoi
कांग्रेस में गुटबाजी समाप्त होने का नाम नहीं ले रही, कुलदीप बिश्नोई ने खुद को हरियाणा के भावी मुख्यमंत्री के रूप में पेश किया

चंडीगढ़। हरियाणा प्रदेश कांग्रेस के बीच चल रही गुटबाजी समाप्त होने का नाम नहीं ले रही है। प्रदेश कांग्रेस में धड़ेबंदी समाप्त करने में लगे पार्टी के नवनियुक्त प्रभारी कमलनाथ के प्रयासों को उस समय धक्का लगा जब हालही में कांग्रेस में शामिल होने वाले कुलदीप बिश्नोई ने खुद को हरियाणा के भावी मुख्यमंत्री के रूप में पेश किया।

हरियाणा में पहले लोकसभा तथा फिर विधानसभा चुनाव हारने के बावजूद कांग्रेस कमेटी की गुटबाजी लगातार जारी है। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अशोक तंवर तथा पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा के बीच छत्तीस का आंकड़ा किसी से छिपा नहीं है। हुड्डा गाहे-बगाहे अपने स्तर पर विधायकों के साथ जहां शक्ति प्रदर्शन करते रहे हैं वहीं अशोक तंवर पार्टी हाईकमान के समक्ष अपनी भूमिका साफ करते रहे हैं।

इन दोनों नेताओं के बीच छिड़ी वर्चस्व की जंग में विधायक दल की नेता किरण चौधरी सामान्य भूमिका में रही हैं। किरण चौधरी कई बार दोनों नेताओं द्वारा आयोजित किए जाने वाले कार्यक्रमों में शामिल होती रही हैं। पिछले दो वर्षों के कामकाज का अवलोकन किया जाए तो किरण चौधरी ने दोनों नेताओं को आइना दिखाने का काम किया है। इस बीच दबाव की राजनीति के लिए मशहूर अहीरवाल के नेता कैप्टन अजय सिंह यादव भी कांग्रेस में अपना अलग ग्रुप बनाकर चल रहे हैं।

अजय यादव हालही में हुड्डा खेमे से नाराजगी व्यक्त करते हुए अपने पद से इस्तीफा भी दे चुके हैं। बाद में राहुल गांधी से मुलाकात के बाद अजय यादव ने इस्तीफा वापस लिया था। कांग्रेस प्रभारी कमलनाथ द्वारा सभी गुटों को एकजुट किए जाने के कई बार प्रयास किए गए लेकिन उन्हें कोई कामयाबी नहीं मिली। इस बीच मई माह के दौरान हरियाणा जनहित कांग्रेस का कांग्रेस में विलय करने वाले पूर्व मुख्यमंत्री स्वर्गीय भजनलाल के पुत्र कुलदीप बिश्नोई ने आज इस गुटबाजी को और हवा दे डाली। बृहस्पविार को कुलदीप बिश्नोई के जन्म दिन के मौके पर उनके समर्थकों ने बोर्ड, होर्डिंग तथा विभिन्न समाचार पत्रों के माध्यम से उन्हें मुबारक दी थी।

इस प्रचार के दौरान कुलदीप बिश्नोई को हरियाणा का अगला मुख्यमंत्री करार दिया गया है। कुलदीप समर्थकों के इस कदम से कांग्रेस में हलचल शुरू हो गई है। माना जा रहा है कि आगामी चुनाव को देखते हुए कुलदीप बिश्नोई ने अपने समर्थकों के माध्यम से यह संकेत दिया है। दिलचस्प बात यह है कि इन विज्ञापनों में सोनिया गांधी, राहुल गांधी तथा कमलनाथ को तो स्थान दिया गया है लेकिन अशोक तंवर, किरण चौधरी व भूपेंद्र सिंह हुड्डा को दूर रखा गया है। जाट व गैर जाट राजनीति के बीच संतुलन की कवायद के चलते पिछले कई दिनों से हरियाणा में अटकलों का दौर जारी है कि कुलदीप बिश्नोई को निकट भविष्य में कांग्रेस अध्यक्ष बनाया जा सकता है। बहरहाल कुलदीप की इस कार्रवाई से कांग्रेस में गुटबाजी समाप्त होने की बजाए इसे बढ़ावा मिलेगा।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे