Patrika Hindi News

बदमाशों ने गैंगस्टर बिंदर गुर्जर के भाई को गोलियों से भूना

Updated: IST gangwar
ओल्ड रेलवे रोड पर जेल में बंद गैंगस्टर बिंदर गुर्जर के बड़े भाई मनीष गुर्जर पर हथियार बंद बदमाशों ने अंधाधुंध फायरिंग कर दी

गुडगांव। साइबरसिटी गुडगांव में सोमवार देर रात ओल्ड रेलवे रोड पर जेल में बंद गैंगस्टर बिंदर गुर्जर के बड़े भाई मनीष गुर्जर पर हथियार बंद बदमाशों ने अंधाधुंध फायरिंग कर दी। जिसमें मनीष की मौत हो गई और दो अन्य घायल हो गए। शिकायत पर सिटी थाना पुलिस ने कैशल गैंग और गैंगस्टर संदीप के परिजनों पर हत्या समेत अन्य धाराओं में केस दर्ज कर लिया है।

गैंगस्टर बिन्दर गुर्जर का बड़ा भाई 42 वर्षीय मनीष का शहर डेयरी और शराब का कारोबार है। सोमवार की रात करीब पौने 12 बजे मनीष ओल्ड रेलवे रोड स्थित स्थित प्रेम मंदिर के सामने वाले शराब के ठेके से कैश कलेक्शन के लिए ही एसयूवी क्रेटा से चालक सुखबीर और लियाकत के साथ गया था। ठेके पर पहुंचने के चंद सेकेंड बाद ही घात लगाए हथियार बंद आठ-दस बदमाशों ने उसपर अंधाधुंध फायरिंग कर दी। इस दौरान ठेके भगदड़ मच गई। बताया जा रहा है कि हथियार बंद हमलावरों ने मनीष पर ताबड़तोड़ करीब बीस से अधिक राउंड गोलियां चलाई। इसके बाद बदमाश दो स्विफ्ट कार से सवार होकर मौके से फरार हो गए। मनीष पप्पू समेत तीनों को तुरंत मेदांता मेडिसिटी ले जाया गया। जहां पर डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। सुखबीर और लियाकत के कमर में गोली है और उनका उपचार चल रहा है।

मामले की सूचना मिलते ही सिटी थाना पुलिस, एसीसी सिटी, डीसीपी समेत अन्य पुलिस अधिकारी मौके पर पहुंचे। अपराध शाखा और फारेंसिक एक्सपटज़् की टीम ने घटना स्थल से साक्ष्य इकठ्ठा किया। पुलिस को मौके से डेढ दर्जन से अधिक गोलियों के खोल बरामद हुए हैं। एसीपी अपराध संजीव बल्हरा ने बताया कि शिकायत पर संदीप और कैशल के परिजनों पर विभिन्न धाराओं में केस दर्ज कर लिया गया है। हमलवारों की पहचान के लिए सीसीटीवी कैमरे खंगाले जा रहे हैं। जल्द ही बदमाशों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

3 गोलियां आरपार निकली

मंगलवार की सुबह मनीष उर्फ पप्पू का पोस्टमार्टम डाक्टरों के पैनल से कराने के बाद कराकर परिजनों को सौप दिया। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के अनुसार मनीष के सिर समेत शरीर के कई भागों पर गोली लगी है। तीन गोलियां शरीर के आर पार हो गई है जबकि अन्य गोलियों शरीर को छूते हुए निकल गई है।

गैंगस्टर संदीप के परिजनों पर शक

पिता कर्ण सिंह ने पुलिस को दी शिकायत में कहा कि बेटे मनीष की हत्या संदीप गाडौली के परिवार और नाहरपुररुपा निवासी कौशल के साथ काफी समय से रंजिश चली आ रही है। जब संदीप का अंतिम संस्कार हो रहा था तो उसका भाई कुलदीप,ब्रहमप्रकाश और बहन सुदेश ने एलान किया था कि हम बिन्दर के परिवार को दिवाली नहीं मनने देंगे। पिता का कहना है कि मनीष की हत्या में कुलदीप, ब्रहमप्रकाश,सुदेश और कौशल,उसका भाई मनीषऔर अमित डागर पर हत्या कराने का शक है।

गैंगस्टर बिन्दर हुआ अंतिम संस्कार में शामिल

मनीष के अंतिम संस्कार में गैंगस्टर बिन्दर भी शामिल हुए। उसे पुलिस ने हथकड़ी लगाकर लाई थी। पुलिस के अनुसार गैंगस्टरों की अपसी रंजिश में मनीष की हत्या की गई है। उसे गैंगवार की आशंका से इंकार नही किया जा सकता। दरअसल गैंगस्टर संदीप गाड़ौली के मुम्बई के निजी होटल में गुडग़ांव पुलिस ने एनकाउंटर के बाद से ही शहर में गैंगवार का खतरा मंडराने लगा था। गैंगस्टर रहे संदीप के एनकाउंटर में संदीप के परिजनों ने संदीप के इनकाउंटर को बिंदर गुर्जर द्वारा रची गई साजि़श करार दिया था। जिसमे की मुम्बई पुलिस ने बिंदर गुर्जर के छोटे भाई मनोज गुर्जर को भी संदीप के इनकाउंटर में आरोपी बनाया था। बीते साल 10 नवम्बर 2015 को प्रोपर्टी डीलर राजू सेठी की हत्या में बिंदर गुर्जर फिलहाल जेल में ट्रायल भुगत रहा है और उसका छोटा भाई मनोज गुर्जर फरार चल रहा है।

यह भी पढ़े :
विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ?भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???