Patrika Hindi News

Photo Icon भिण्ड नपा में राजस्व से जुड़ीं 1000 फाइलें गायब, बड़े भ्रष्टाचार की साजिश

Updated: IST nagar palika bhind
सूत्रों के मुताबिक नपा की निर्माण शाखा की दायरा पंजी में करीब 1700 फाइलों का उल्लेख है लेकिन निर्माण शाखा में तकरीबन 450 फाइलें ही मौजूद हैं।

ग्वालियर/भिण्ड। अभी प्रधानमंत्री आवास योजना में हुए घालमेल की जांच पूरी भी नहीं हो पाई है कि नपा कार्यालय भिण्ड की निर्माण एवं राजस्व शाखा से लगभग एक हजारसे अधिक फाइलें गायब होने की सुगबुगाहट शुरू हो गई है। बताया जा रहा है कि गायब की गई फाइलों में करोड़ों के घोटाले के राज बंद हैं।

सूत्रों के मुताबिक नपा की निर्माण शाखा की दायरा पंजी में करीब 1700 फाइलों का उल्लेख है लेकिन निर्माण शाखा में तकरीबन 450 फाइलें ही मौजूद हैं। यही हाल राजस्व शाखा का है जहां दायरा पंजी में दर्ज दो हजार से अधिक फाइलों में से दो सौ से ज्यादा फाइलें लापता हैं। एक ओर निर्माण शाखा से फाइलें गायब कर बिना निर्माण के ही कथित रूप से करोड़ों के भुगतान करवा लिए गए हैं । वहीं राजस्व शाखा की गायब फाइलों में दर्ज वसूले गए लाखों रुपए के राजस्व का गोलमाल कर लिया गया है। नपा से जुड़े जानकार बताते हैं कि मैजरमेंट बुक (एमबी) कार्यालय में अपडेट होने के बजाए संबंधित ठेकेदारों के पास रहती है।

दो से तीन बार लिया गया एक ही निर्माण का भुगतान
सूत्र बताते हैं कि नपा कार्यालय से वे फाइलें भी गायब की गई हैं जिनमें एक निर्माण का दो या तीन बार बिना निर्माण के भुगतान कराया गया है। दो लाख के प्राकलन को अपने ही हाथ से दस लाख कर भुगतान करवा लिया जाता है। वहीं राजस्व की गुम फाइलों में नपा की आवंटित दुकानों मनमर्जी से नाम बदलकर आवंटन कर दिया जाता है। इतना ही नहीं किराया विधिवत शासन के कोष में जमा कराए जाने के बजाए स्वयं ही डकार लिया जाता है। सूत्रों की मानें तो फाइलें करीब चार साल से अधिक समय से गायब हैं। राजस्व का रिकॉर्ड कर्मचारी के सेवा निवृत्त होने के उपरांत भी गायब फाइलें जमा कराया जाना आवश्यक नहीं समझा गया है। फाइलों के गायब होने के कारण पिछली तारीख में ही हस्ताक्षर कर अग्रिम कार्यवाही कर रहे हैं।

शहर में होने वाले निर्माण कार्यों की फाइलें कार्यालय में होने के बजाए संबंधित ठेकेदार अपने कब्जे में रखते हैं ताकि उपरोक्त फाइलों में की गई कथित गड़बड़ी उजागर नहीं हो पाए। प्रशासन को इस अंधेरगर्दी की गंभीरता पूर्वक जांच करानी चाहिए। गायब फाइलों में करोड़ों का घोटाला दफन है।
मुकेश गर्ग, पार्षद वार्ड क्रमांक 39 भिण्ड

यह सही है कि नपा कार्यालय के राजस्व व निर्माण शाखा से बड़ी संख्या में फाइलें गुम हैं। गायब फाइलों के आधार पर संबंधित ठेकेदार व नपा अधिकारी कर्मचारी आपस में सांठगांठ कर बिना निर्माण किए ही फर्जी भुगतान करवा लेते हैं। गायब फाइलों की जांच अति आवश्यक है।
आशा रतनचंद्र जैन, नेता प्रतिपक्ष

हाल ही में पदभार ग्रहण किया है, ऐसे में निर्माण व राजस्व शाखाओं का निरीक्षण नहीं कर पाए हैं। कल निरीक्षण कर फाइलों की जानकारी लेंगे। यदि फाइलों गायब पाई जातीं हैं तो संबंधित शाखा प्रभारी के खिलाफ विभागीय कार्यवाही की जाएगी।
जेएन पारा, सीएमओ नगर पालिका भिण्ड

अपने विवाह के सपने को भारत मैट्रीमोनी पर साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???