Patrika Hindi News

Photo Icon कंपनी ने काटी बिजली, सड़क पर उतरे ग्रामीणों ने दो घंटे लगाया जाम 

Updated: IST gwalior
बिजली कंपनी द्वारा राशि बकाया होने पर बिजली काटे जाने के विरोध में मंगलवार को आधा दर्जन से अधिक गांवों के लोगों ने इंदरगढ़ रोड पर चक्काजाम कर दिया

ग्वालियर/दतिया. बिजली कंपनी द्वारा राशि बकाया होने पर बिजली काटे जाने के विरोध में मंगलवार को आधा दर्जन से अधिक गांवों के लोगों ने इंदरगढ़ रोड पर चक्काजाम कर दिया। चक्काजाम करीब दो घंटे तक चला। जाम के कारण लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा। मौके पर पहुंचे वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा दस दिन में बकाया राशि की 25 प्रतिशत राशि जमा करने के लिए राजी किए जाने और शाम तक बिजली चालू किए जाने के आश्वासन के बाद ग्रामीणों ने जाम खोल दिया।

मध्यक्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी द्वारा ग्रामीणों द्वारा बिल की राशि जमा न किए जाने पर ग्राम मुरगुवां, रानीपुरा, जौरा, छिकाऊ, ररूआजीवन, ऊंचिया एवं चर्राई आदि गांवों की लाइट करीब एक सप्ताह काट दी गई है। इन दिनों रवि फसलों की बुवाई और पलेवा होने की वजह से ग्रामीणों को बिजली की जरूरत है। बिजली न होने से किसानों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। बिजली कटने से आक्रोशित ग्रामीणों ने चक्काजाम कर दिया।

तहसीलदार को दिया था ज्ञापन

इंदरगढ़ क्षेत्र के आधा दर्जन से अधिक गांवों की बिजली कट जाने के बाद बिजली सप्लाई पुन: चालू किए जाने के लिए सोमवार को ग्रामीणों ने तहसीलदार अशोक अवस्थी को ज्ञापन दिया था और बिजली चालू न होने पर चक्काजाम करने की चेतावनी दी थी। बिजली चालू न होने पर ग्रामीणों ने मंगलवार को करीब १२ बजे ग्राम ररूआ में मुख्य मार्ग पर जाम लगा दिया। चक्काजाम करीब दो बजे तक चला।

मौके पर पहुंचे अधिकारी

चक्काजाम की सूचना मिलने पर एसडीएम उदय सिंह सिकरवार, एसडीओपी देवेंद्र सिंह कुशवाह, तहसीलदार अशोक अवस्थी, सहायक प्रबंधक बिजली कंपनी सेंवढ़ा, विकास केसरवानी, सहायक प्रबंधक बिजली कंपनी इंदरगढ़ राहुल गौड़, टीआई इंदरगढ़ वाय एस तोमर, धीरपुरा थाना प्रभारी बिनीत तिवारी मौके पर पहुंचे और ग्रामीणों से चर्चा कर जाम खुलवाने का प्रयास किया। बाद में बिल की राशि दस दिनों में जमा करने और शाम तक बिजली सप्लाई चालू करने के आश्वासन के बाद जाम खुला।

57 लोगों पर मामला दर्ज
इंदरगढ़ थाना पुलिस ने ग्राम ररूआ में बिजली समस्या को लेकर जाम लगाने पर 57 लोगों के खिलाफ धारा 341 एवं 147 आईपीसी के तहत मामला दर्ज किया है। पुलिस ने इस मामले में 20 लोगों को नामजद किया है तथा 36 अज्ञात लोगों को आरोपी बनाया है। चक्काजाम करने वाले आरोपियों में ग्राम मुरगुवां के बीस,मैथाना के दस,ग्राम रानीपुरा के सात ग्रामीण शामिल हैं। पुलिस ने जाम लगाने में उपयोग किए गए ट्रैक्टर को भी जब्त किया है।

किस गांव पर कितना बकाया
गांव का नाम बकाया राशि
चर्राई 62 लाख
पडऱी 33 लाख
जौरा 06 लाख
सोड़ा 24 लाख
बागुर्दन 14 लाख
रानीपुरा 08 लाख
मुरगुवां 59 लाख

"ग्रामीणों पर ढाई करोड़ से अधिक का बिल बकाया है। कुछ किसानों के ही बिल जमा है बाकि किसानों द्वारा बिल जमा नहीं किया जा रहा है। बिल जमा न करने की वजह से बिजली आपूर्ति बंद की गई है। ग्रामीणों ने दस दिन में 25 प्रतिशत राशि जमा करने का आश्वासन दिया है। अगर ग्रामीण राशि जमा नहीं करते तो लाइट फिर काट दी जाएगी"
राहुल गौड़,सहायक प्रबंधक, बिजली कंपनी इंदरगढ़

"बिजली कट जाने की वजह से ग्रामीणों ने चक्काजाम किया था। ग्रामीणों ने दस दिनों में बिल की राशि की दस प्रतिशत राशि जमा करने का आश्वासन दिया है। ग्रामीणों के आश्वासन के बाद शाम तक लाइट चालू करवा दी जाएगी।"
उदय सिंह सिकरवार,एसडीएम सेंवढ़ा

अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!

Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???