Patrika Hindi News

डॉक्टर्स ने ऑपरेशन से किया मना?, ये रहे कारण

Updated: IST JAH Gwalior
जयारोग्य अस्पताल के ट्रॉमा सेंटर का मामला,मोटर को दुरुस्त कराने की प्रक्रिया तो शुरू कर दी गई है, लेकिन शनिवार को भी पानी मिलने की संभावना कम है।

ग्वालियर। ट्यूबवेल मोटर खराबी के चलते जयारोग्य अस्पताल के ट्रॉमा सेंटर पानी का संकट बना हुआ है। पानी नहीं होने से दो ऑपरेशन तक रोकने पड़े। सुबह 10 बजे से लेकर शाम 4 बजे तक पानी की व्यवस्था न होने से ऑपरेशन में इस्तेमाल किए जाने वाले उपकरण ऑटोक्लेब नहीं हो सके थे, इस कारण डॉक्टरों ने ऑपरेशन करने से हाथ झाड़ लिए। फौरी तौर पर राहत देने के लिए टैंकर पानी मंगाया गया। शाम पांच बजे के बाद ऑपरेशन शुरू हुए।

ट्रॉमा सेंटर में पानी न आने से वार्डों की सफाई पर भी असर पड़ा है। मोटर को दुरुस्त कराने की प्रक्रिया तो शुरू कर दी गई है, लेकिन शनिवार को भी पानी मिलने की संभावना कम है। उम्मीद जताई जा रही है कि शाम तक पानी मिलने लगेगा। इधर मरीजों के तीमारदारों को पीने के पानी के लिए परेशान होना पड़ा।

CLICK HERE-

बताया जाता है कि एक बच्चा व महिला का ऑपरेशन तय था, लेकिन पानी न होने के कारण उपकरण संक्रमण मुक्त नहीं हो पाए थे, इस कारण दोनों ऑपरेशन टाल दिए। सहायक अधीक्षक डॉ. जितेन्द्र नरवरिया ने टैंकर भेजकर पानी की व्यवस्था कराई तब जाकर आेटी शुरू हुई। करीब सात घंटे तक प्लास्टर चढ़ाने के कोई काम नहीं हो सका।

यह भी पढें- एक ऐसी लैब जहां 14 साल में नहीं हुई एक भी जांच!

'मोटर खराब होने के कारण पानी नहीं पहुंच सका। इस कारण परेशानी हुई। शाम को टैंकर मंगाकर पानी की उपलब्धता सुनिश्चित कर दी गई।'

- डॉ. जितेन्द्र नरवरिया, सहायक अधीक्षक, जेएएच

यह भी पढ़े :
विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ?भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???