Patrika Hindi News

> > > > four rob construction approved by central ministry

Photo Icon शहर की TRAFFIC PROBLEM दूर करने, बनेंगे चार 4 ROB

Updated: IST city traffic
शहर के आधे से ज्यादा यातायात को बांटने की क्षमता रखने वाले बहुप्रतीक्षित रेलवे ओवर ब्रिज को केन्द्र सरकार ने मंजूरी दे दी है।

ग्वालियर। शहर के आधे से ज्यादा यातायात को बांटने की क्षमता रखने वाले बहुप्रतीक्षित रेलवे ओवर ब्रिज को केन्द्र सरकार ने मंजूरी दे दी है। शहर की जरूरत के हिसाब से लोक निर्माण विभाग ने प्रस्ताव बनाकर भेजा था, इस प्रस्ताव को दोबारा से स्थानीय सांसद और केन्द्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के साथ ही केन्द्रीय सड़क निधि से ओवर ब्रिज की मंजूरी कराई है।

इसके साथ ही शहर के ट्रैफिक को ग्वालियर से मुरार और एनएच-3 को एनच-92 और एनएच-75 से जुडऩे में आसानी होगी। केन्द्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय ने इसके लिए 121 करोड़ 69 लाख रुपए की राशि स्वीकृत कर दी है। जल्द ही इनका निर्माण शुरू होगा।

यहां बनेंगे ओवर ब्रिज......

आरओबी-1
  • यादव धर्मकांटा से शताब्दीपुरम
  • लागत-20 करोड़ 73 लाख रुपए
  • दूरी- लगभग चार किलोमीटर
  • कनेक्टिविटी- इसके निर्माण से मुरैना की ओर से आने वाला यातायात सीधे ही शताब्दीपुरम होकर भिंड रोड पहुंचेगा।

आरओबी-2
  • नाका चंद्रबदनी से कलेक्ट्रेट रोड
  • लागत- 42 करोड़ 8 लाख रुपए
  • दूरी- लगभग दो किलोमीटर
  • कनेक्टिविटी- लश्कर से हाइवे जाने पर एजी ऑफिस पुल की बजाय सीधे विवेकानंद नीडम से होकर कलेक्ट्रेट होकर मार्ग मिल जाएगा। कनेक्टिविटी- लश्कर से हाइवे जाने पर एजी ऑफिस पुल की बजाय सीधे विवेकानंद नीडम से होकर कलेक्ट्रेट होकर मार्ग मिल जाएगा।

आरओबी-3
  • मल्लगढ़ा से भदरौली
  • लागत- 23 करोड़ 7 लाख रुपए
  • दूरी- लगभग तीन किलोमीटर
  • कनेक्टिविटी- मल्लगढ़ा फाटक से जमाहर, जलालपुर और हजीरा-चार शहर का नाका आदि क्षेत्र से सीधे भिंड रोड का जुड़ाव।

आरओबी-4
  • तानसेन रोड से गाडर वाली पुलिया
  • लागत- 35 करोड़ 81 लाख रुपए
  • दूरी- लगभग एक किलोमीटर
  • कनक्टिविटी- इससे तानसेन रोड से रेसकोर्स रोड तक व हजीरा, आर पी कॉलोनी, रेलवे कॉलोनी, गोले का मंदिर आदि का ट्रैफिक डाइवर्ट होगा।
चहुंमुखी होगा विकास
ग्वालियर के चहुंमुखी विकास के लिए हम प्रयासरत हैं। स्मार्ट सिटी के साथ यातायात को सुगम बनाने रेलवे ओवर ब्रिज
की जरूरत थी। इनके बनने से शहर के आंतरिक व बाह्य ट्रैफिक को डायवर्ट करने में मदद मिलेगी। संकरे मार्गों के कारण होने वाली असुविधा को दृष्टिगत रख पीडब्ल्यूडी को निर्देश दिए थे।

अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!

Latest Videos from Patrika

Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???