Patrika Hindi News

ग्वालियर के खतरनाक वायरसों की जांच अब भोपाल में

Updated: IST virus detected bhopal
खतरनाक वायरसों की जांच सुविधा प्रदेश के जिला अस्पताल में न होने के बाद संचालनालय स्वास्थ्य सेवाएं ने एम्स भोपाल में जांच कराने का निर्णय लिया है। संयुक्त संचालक...

ग्वालियर . खतरनाक वायरसों की जांच सुविधा प्रदेश के जिला अस्पताल में न होने के बाद संचालनालय स्वास्थ्य सेवाएं ने एम्स भोपाल में जांच कराने का निर्णय लिया है। संयुक्त संचालक आईडीएसपी राकेश मुंशी ने मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी व सिविल सर्जन को पत्र लिखकर निर्देश दिए हैं कि वायरल बीमारियों के सैंपल रीजनल वायरोलॉजी लैब में भेजे जाएं।
वायरोलॉजी लेबोरेटरी एम्स भोपाल में वायरल हेपेटाइटिस, सिस्टेमिटीक फेवरिल इल्नेस, एनसिफिलेटीस, एक्जामेटस फीवर, गैस्टोइनट्राईटिस, रिसपिरेट्री इंफेक्शन व जीका वायरस के संदिग्ध मरीजों के सैंपल नियमित जांच के लिए भेजे जा सकेंगे। संदिग्ध मरीज के सैंपल की जांच 24 घंटे के भीतर एम्स भोपाल द्वारा उपलब्ध कराई जाएगी। उल्लेखनीय है कि ग्वालियर में वायरोलॉजी लैब गजराराजा चिकित्सा महाविद्यालय में खोले जाने की सौद्धांतिक सहमति केन्द्र सरकार से मिल चुकी है, लेकिन लैब के निर्माण का काम अब तक शुरू नहीं हो सका है।

अपने विवाह के सपने को भारत मैट्रीमोनी पर साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???