Patrika Hindi News

> > > > helicopter landed in ju university damaged 12 lakhs pipe line

Photo Icon  नेतागिरी का रौब देखिए, 15 हजार के फेर में 12 लाख की चपत खा गया जेयू 

Updated: IST sachin weds nidhi
भाजपा नेता विनोद शर्मा के चचेरे भाई की शादी में गोरमी भिण्ड से दुल्हन लेकर आया हैलीकॉप्टर दूसरे दिन भी ग्राउंड पर लैंड करा दिया। इस दौरान गंभीर लापरवाही बरती गई।

ग्वालियर। जीवाजी यूनिवर्सिटी (जेयू) में आला अधिकारियों ने कार्यपरिषद (ईसी) के नियमों को ठेंगा दिखाकर भाजपा नेता विनोद शर्मा के चचेरे भाई की शादी में गोरमी भिण्ड से दुल्हन लेकर आया हैलीकॉप्टर दूसरे दिन भी ग्राउंड पर लैंड करा दिया। इस दौरान गंभीर लापरवाही बरती गई।

gwalior

सुरक्षा के नियमों को ठेंगा दिखाकर 200 लीटर पैट्रोल का टैंक जेयू परिसर लाया गया। हैलीकॉप्टर को देखने के लिए आई भारी भीड़ के बीच पेट्रोल भरी गई। इस दौरान कभी भी कोई बड़ी दुर्घटना घटित हो सकती थी, लेकिन जेयू अधिकारियों ने बिना किसी की परवाह किए चहेतों को लाभ देने का सिलसिला जारी रखा। भीड़ को कंट्रोल करने के लिए कोई भी जिम्मेदार अधिकारी मौजूद नहीं था। दूल्हे के परिजन ही मौके से लोगों को दूर भगाते नजर आए।

इससे पूर्व फायर बिग्रेड की गाड़ी को जेयू सिक्योरिटी गार्ड ने गेट पर ही रोक दिया। इस दौरान फायर बिग्रेड के कर्मचारियों और जेयू गार्ड के बीच करीब आधा घंटे तक काफी कहासुनी हुई। बाद में फायर बिग्रेड को उल्टे पांव वापस लौटना पड़ा। जेयू सिक्योरिटी गार्डों के अनुसार बुधवार को फायर बिग्रेड की गाडिय़ों ने पाइप लाइन को तोड़ दिया, जिससे जेयू की पानी सप्लाई रुक गई है। जेयू खेल विभाग के निदेशक राजेन्द्र सिंह गुर्जर और विभागाध्यक्ष केशव सिंह गुर्जर का कहना है कि इस संबंध में जेयू प्रबंधन ने उन्हें कोई जानकारी नहीं दी है।

60 हजार रुपए की जगह 15 हजार जमा किए, बढ़ा विवाद
जेयू में हैलीकॉप्टर लैंडिग का मामला दूसरे दिन भी विवादों में रहा। विभागीय सूत्रों के अनुसार आदेश के समय नोटशीट पर 30 हजार रुपए प्रतिदिन का किराया फिक्स किया था। जिसके हिसाब से संबंधित पार्टी को 60 हजार रुपए जेयू में जमा कराने थे। लेकिन संबंधित पार्टी ने अभी तक केवल 15 हजार रुपए ही जमा कराए हैं। इसकी पुष्टि वित्त नियंत्रक अजय शर्मा ने की है। उनका कहना है कि नोटशीट कितने की चली उन्हें इसके बारे में नहीं पता, लेकिन उनके पास 15 हजार रुपए जमा कराए गए हैं।

छात्र था इसीलिए अनुमति दी थी
जिस छात्र की शादी थी, वह विवि का छात्र था इस कारण हमने अनुमति दी। उसने कितना पैसा जमा कराया है, हैलीकॉप्टर कहां लैंड कराया गया, इसकी जानकारी लेकर ही कुछ बता पाऊंगा।
डॉ. आनंद मिश्रा, कुलसचिव,जेयू

अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!

Latest Videos from Patrika

Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???