Patrika Hindi News

> > > > income tax raid on bullion and citing worker

सराफा व हवाला कारोबारी के ठिकानों पर आयकर का छापा 

Updated: IST income tax raid
सराफा बाजार स्थित सराफा कारोबारी और दाल बाजार स्थित आरटीजीएस का काम करने वाले हवाला कारोबारी के यहां आयकर विभाग की इन्वेस्टीगेशन विंग ने छापे की कार्रवाई को अंजाम दिया। दोपहर 3 बजे के बाद पहुंची विभाग की टीमों ने दोनों कारोबारियों के प्रतिष्ठानों के साथ-साथ उनके निवास पर भी जांच-पड़ताल की।

ग्वालियर। नोटबंदी के बाद से ही आयकर विभाग की नजरें सराफा कारोबारियों और ऐसे ही दूसरे कारोबारियों पर टिकी हुई है। इसी के चलते गुरुवार की दोपहर सराफा बाजार स्थित सराफा कारोबारी और दाल बाजार स्थित आरटीजीएस का काम करने वाले हवाला कारोबारी के यहां आयकर विभाग की इन्वेस्टीगेशन विंग ने छापे की कार्रवाई को अंजाम दिया।

दोपहर 3 बजे के बाद पहुंची विभाग की टीमों ने दोनों कारोबारियों के प्रतिष्ठानों के साथ-साथ उनके निवास पर भी जांच-पड़ताल की। जानकारी के मुताबिक आयकर विभाग की टीमों ने दोनों कारोबारियों से एकांत में पूछताछ करने के साथ कागजों की भी जांच-पड़ताल की।

नोटबंदी के बाद से तैयारी
आयकर विभाग से जुड़े सूत्रों की मानें तो 8 नवंबर के बाद से विभाग की टीमों ने ऐसे कारोबारियों पर नजरें टिका दी थीं जो गड़बडिय़ां कर कारोबार कर रहे हैं। विभाग ने ऐसे लोगों की सूची तैयार की जो सोने की ईंट, हवाला, एनसीएक्स आदि जैसे कारोबार को बड़े स्तर पर कर रहे हैं।

प्रतिष्ठान सहित निवास पर भी कार्रवाईसराफा बाजार में सराफा कारोबारी के प्रतिष्ठान और उसके दानाओली स्थित निवास और दाल बाजार में आरटीजीएस का काम करने वाले कारोबारी इंग्ले का बाड़ा स्थित प्रतिष्ठान और ट्रांसपोर्ट नगर स्थित निवास पर भी कार्रवाई को अंजाम दिया। जानकारी के मुताबिक सराफा कारोबारी और उसका भाई सोने के बिस्किट, ईंट आदि का बड़े स्तर पर थोक में काम करते हैं। 8 नवंबर के बाद से ही इन्होंने सोने की बड़ी मात्रा में खरीद-फरोख्त की।

इधर एसडीएम बोले, बेटा देखरेख करेगा और दो हजार रुपए महीना खर्चा भी देगा
बुजुर्गों के भरण-पोषण की सुनवाई के दौरान गुरुवार को एसडीएम महिप तेजस्वी के सामने एक एेसा परिवार आया, जिसने अपने बच्चे पर आरोप लगाया कि बच्चा दवा और खाने पीने के लिए भी परेशान करता है।
आजाद नगर मुरार में रहने वाले सुरेन्द्र पवैया ने एसडीएम के सामने शिकायत की कि उनका बेटा राजीव उनके साथ अभद्रता करता है। शिकायत सुनने के बाद सुरेन्द्र की पत्नि ने बताया कि उनके पति शराब के नशे में परिवार को परेशान करते हैं। सुरेन्द्र ने एसडीएम से मांग की कि उन्हें पुत्र द्वारा हर माह पांच हजार रुपए दिए जाएं। इस पर एसडीएम ने डांटते हुए कहा कि अगर अब शराब पीकर परिवार को परेशान किया तो एक भी पैसा पुत्र नहीं देगा। सुरेन्द्र की मांग पर दो हजार रुपए प्रतिमाह पुत्र द्वारा देने के आदेश दिए गए।

घर छोड़कर अलग रहने लगे पुत्र-बहू
शैलार की गोठ निवासी लक्ष्मण सिंह कुशवाह ने पिछली सुनवाई में अपने पुत्र राजू और बहू गीता पर आरोप लगाया था कि वे मकान पर कब्जा करने के साथ प्रताडि़त करते हैं। इस पर एसडीएम ने राजू को मकान खाली करने का आदेश दिया था। इसका पालन करते हुए राजू ने एसडीएम को बताया कि मकान खाली कर दिया गया है।

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!

Latest Videos from Patrika

Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???