Patrika Hindi News

मकरसंक्रांति, गुड़व तिल से बने लड्डू और गजकखिलाकर मनाते हैं ये त्योहार

Updated: IST lord surya
देशके विभिन्न प्रांतों में यहत्यौहार अलग-अलगनामों और अलग-अलगतरीके से मनाया जाता है।वहींग्वालियर में गजक, तिलके लड्डू, मंगोडोंव गुड़ की पट्टी के बिना यहत्योहार अधूरा सा माना जाताहै।

ग्वालियर। मकर संक्रांति का त्योहारसूर्य के उत्तरायण होकर मकरराशि में प्रवेश के मौके परमनाया जाता है। मकर संक्रांतिको सूर्य के संक्रमण का त्योहारमाना जाता है। जानकारों केमुताबिक एक जगह से दूसरी जगहजाने अथवा एक-दूसरेका मिलना ही संक्रांति होतीहै। इस बार 14 जनवरीको मकर संक्रांति है।

सूर्यदेवजब धनु राशि से मकर पर पहुंचतेहैं तो मकर संक्रांति मनाईजाती है। सूर्य का यह राशिपरिवर्तन साल में एक बार होताहै। जानकारों के अनुसार सूर्यके धनु राशि से मकर राशि परजाने का महत्व इसलिए अधिक हैकि इस समय सूर्य दक्षिणायनसे उत्तरायन हो जाता है औरउत्तरायन देवताओं का दिन मानाजाता है।

यह भी पढें- सूर्य नमस्कार के यह हैं फायदे, जानिये कारण

हरघर से आती है गजक की महक

संक्रांतिके इस पर्व पर ग्वालियर केघर-घर में मंगोड़ेऔर गजक की महक आती र्है। लोगएक दूसरे को गुड़ व तिल से बनेलड्डू और गजक खिलाकर इस पर्वको हर्षोल्लास के साथ मनातेहैं। आज के दिन खिचड़ी बनानेकी परंपरा है। इसलिए खिचड़ीके साथ-साथ कई औरलजीज पकवान बनाए जाने के अलावादेश के कई स्थानों में पंतगबाजीकर यह पर्व मनाया गया।

Click Here -

मकरसंक्रांति के इस त्योहार कोकहीं संक्रांति कहते हैं तोकहीं खिचड़ी, कहींपोंगल तो कहीं उत्तरायण...

देशके विभिन्न प्रांतों में यहत्यौहार अलग-अलगनामों और अलग-अलगतरीके से मनाया जाता है।वहींग्वालियर में जहां यह त्योहारमकर संक्रांति के नाम से मनायाजाता है। उसमें भी ग्वालियरमें गजक, तिल केलड्डू, मंगोडों वगुड़ की पट्टी के बिना यहत्योहार अधूरा सा माना जाताहै।

1. इसदिन आंध्र प्रदेश मेंं संक्रांतिके मौके पर महिलाएं रंग-बिरंगेकपड़े पहनकर सजे-धजेगाय और बैलों की पूजा करतीहैं।

2. पश्चिमबंगाल के गंगासागर में जहांगंगा आकर बंगाल की खाड़ी मिलतीहै वहां हर साल मकर संक्रांतिके मौके पर गंगासागर मेला लगताहै। इस मौके पर देश-विदेशसे लाखों श्रद्धालु पवित्रडुबकी लगाने पहुंचते हैं।

यह भी पढें- बुधवार को ऐसे करें श्रीगणेश जी की पूजा, सारी बाधाएं हो जाएंगी दूर

3. गुजरातमें मकर संक्रांति का त्योहारउत्तरायण के नाम से जाना जाताहै और इस दिन पतंगबाजी का बहुतमहत्व है। इस अवसर पर गुजरातके प्रसिद्ध स्वामी नारायणमंदिर को पतंगों से सजाया गयाहै।

4. संक्रांतिके दिन पवित्र नदियों मेंस्नान का भी विशेष महत्व मानाजाता है। यही वजह है कि मकरसंक्रांति के दिन हरिद्वारके हर की पौड़ी में लाखोंश्रद्धालुओं ने आस्था की डुबकीलगाई।

5. आंध्रप्रदेश मेंं संक्रांति केमौके पर बैलों के साथ गंगीरेड्डूनाम का विशेष करतब दिखाया जाताहै।

चित्र में ये शामिल हो सकता है: एक या और लोेग, बास्केटबॉल कोर्ट, आकाश और बाहर

6. संक्रांतिके मौके पर जयपुर में लोगोंके बीच पंतगबाजी का उत्साहदेखते ही बनता है।

7. पश्चिमबंगाल के बीरभूम में मकरसंक्रांति के दिन जॉयदेब मेलेका आयोजन होता है जिसमें कुछलोग दानव का वेष धारण करतेहैं।

यह भी पढें- ग्वालियर के इस लड़के ने 'दंगल' की लीड एक्ट्रेसेज को कराई थी रियल लाइफ कुश्ती की प्रैक्टिस

संक्रांतिपर है तिल दान का विशेष महत्व

मान्यताहै कि मकर संक्रांति के दिनकिए गए दान का फल सौ गुणा होकरदानदाता को वापस प्राप्त होताहै। वैसे तो संक्रांति के दिनतिल दान का विशेष महत्व है।लेकिन ज्योतिषियों की मानेंतो अगर राशि अनुसार कुछ विशेषचीजें दान की जाएं तो व्यक्तिकी हर मनोकामना पूरी हो सकतीहै। पंडित सुनील शर्मा(ग्वालियर)के अनुसार मकर संक्रांति के दिन राशि अनुसार यहचीजेंदान करें, जो आपकी तरक्की में सहायक बनेगी-

चित्र में ये शामिल हो सकता है: भोजन

1. मेष-इस राशि के लोग तिल केसाथ ही मच्छरदानी का दान करेंतो शीघ्र ही उनकी मनोकामनापूरी हो सकती है।

2. वृषभ-इस राशि का स्वामीशुक्र होने के कारण इस दिन ऊनीवस्त्र और तिल का दान करनाइनके लिए लिए शुभ रहेगा।

3. मिथुन-राशि का स्वामी बुधहोने के कारण इस राशि के लोगभी मेष राशि वालों की तरह इसदिन तिल और मच्छरदानी का दानकरना लाभकारी होगा।

4. कर्क-कर्क राशि वाले जातकोंको मकर संक्रांति पर तिल,साबूदाना और ऊन का दानकरना शुभ फल प्रदान करने वालारहेगा।

5. सिंह-इस दिन सिंह राशि वालोंको अपनी क्षमता अनुसार तिलऔर कंबल का दान करना बेहतरहोगा।

यह भी पढें- रामभक्त हनुमान का दिन है मंगलवार,ऐसे करें प्रसन्न

6. कन्या-आपका राशि स्वामी बुधहै अत: मकर संक्रांतिके दिन इस राशि के लोग तिल औरकंबल के अलावा तेल और उड़द दालका भी दान करें।

7. तुला-इस राशि के लोगों यदिमकर संक्रांति पर तेल, रुई,वस्त्र और राई का दानकरें तो उनकी मनोकामनाएं पूरीहो सकती हैं।

8. वृश्चिक-इस राशि के लोगों कोमकर संक्रांति के दिन गरीबोंको चावल और दाल की कच्ची खिचड़ीऔर अपनी क्षमता अनुसार कंबलदान करना चाहिए।

9. धनु-गुरु राशि स्वामी होनेके चलते इस राशि के लोग मकरसंक्रांति के दिन तिल व चनेकी दाल का दान करेगें तो उन्हेंविशेष लाभ मिलेगा।

यह भी पढें- शनिवार है शनिदेव का दिन, ऐसे करें प्रसन्न

10. मकर-मकर राशि वाले मकरसंक्रांति के दिन तेल, तिल,कंबल और पुस्तक का दानकरते हैं, तो इनकीहर मनोकामना पूरी हो सकती है।

11. कुंभ-इस राशि वालों के लिएतिल, साबुन, वस्त्रऔर अन्न का दान करना बेहतरहोगा।

12. मीन-मकर संक्रांति के दिनमीन राशि वाले तिल, चना,साबूदाना और कंबल कादान करें। इससे बेहतर परिणामिमलेंगे।

यह भी पढें- संडे है भगवान सूर्य का दिन, ऐसे पाएं आशीर्वाद

यह भी पढ़े :
अपने विवाह के सपने को सपने भारत मैट्रीमोनी से साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???