Patrika Hindi News

Video Icon मिड-डे-मिल TASK MANAGER ने नैपकिन पर ली रिश्वत, चालाकी तो दिखाई लेकिन पकड़ी गई

Updated: IST mdm task manager minal tripathi
करैरा के ग्राम पंचायत विभाग में कार्यरत टास्क ऑफिसर को ग्वालियर लोकायुक्त पुलिस ने 20, 000 रू की रिश्वत लेते हुए धर लिया।

ग्वालियर/करैरा। करैरा के ग्राम पंचायत विभाग में कार्यरत टास्क ऑफिसर को ग्वालियर लोकायुक्त पुलिस ने 20, 000 रू की रिश्वत लेते हुए धर लिया। लेकिन महिला अफसर ने उलटा लोकायुक्त पुलिस को ही भला-बुरा सुना दिया और रिश्वत न लेने वाली की बात करने लगी, लेकिन महिला अफसर की चालाकी ज्यादा देर न चली और उस पर रिश्वत लेने का केस किया गया।

5 नबंवर को करैरा तहसील के बडैऱा गांव में मिड डे मिल (एमडीएम) की जिला पंचायत शिवपुरी में पदस्थ कीनल त्रिपाठी (42) निरीक्षण करने पहुंची। बडैऱा गांव में एमडीएम की सप्लाई करने वाले स्व सहायता समूह के संचालक रामजी जाटव के यहां पहुंचीं। वहां पहुंच कर मध्यान भोजन का जायजा लिया। जिसमें कई कमियां निकालीं और जांच के आदेश देकर चली गई। कार्रवाई के बाद कीनल ने रामजी जाटव को फोन करके मामले की जांच रोकने के लिए 25,000 रु रिश्वत की मांग की। जिसको अदा न करने पर कीनल ने एसडीएम ऑफिस से रामजी के खिलाफ नोटिस भेज दिया। रामजी ने नोटिस का जबाब भी दे दिया और एसडीएम ऑफिस से क्लिन चिट भी ले ली। इसी बीच रामजी को कीनल त्रिपाठी ने फिर से कॉल करके रिश्वत देने के लिए मजबूर किया।

रामजी ने किया जाल तैयार
कीनल त्रिपाठी के बार-बार रिश्वत मांगने से परेशान होकर रामजी जाटव 25 नबंवर को कीनल त्रिपाठी से मिलने पहुंचा। वहां कीनल त्रिपाठी को 5 हजार रु ुरिश्वत के दिए और उसका वीडियो भी बना लिया। साथ ही फोन पर हुई बातचीत की रिर्काडिंग भी कर ली। तमाम सबूत जुटाने के बाद रामजी ने ग्वालियर लोकायुक्त को मामले की जानकारी दी। लोकायुक्त पुलिस ने ट्रैप तैयार करते ही गुरुवार को बाकी की 20 हजार रु रकम के साथ रामजी को टास्क मैनेजर कीनल त्रिपाठी के पास भेजा ।

कीनल ने निकाला रिश्वत लेने का नया तरीका
जैसे ही रामजी जाटव ने कीनल को नोट की गड्डी दी तो टास्क मैनेजर ने नोटों की गड्डी हाथ में न लेते हुए नैपकिन(रुमाल) पर रखने को कहा- रामजी ने नोटों की गड्डी नैपकिन पर रख दी। कीनल ने तुरंत नैपकिन फोल्ड करके अपने ड्रावर में रख दिया और रामजी को जाने के लिए बोलने लगी। लेकिन इसी बीच लोकायुक्त ने कीनल के ऑफिस में पहुंच कर कीनल को रंगे हाथों पकड़ा लिया।

कीनल करने लगी लोकायुक्त से बहस
पकड़े जाने पर कीनल लोकायुक्त पुलिस से बहस करने लगी और कहने लगी मैने कोई रिश्वत नहीं ली है। मुझे फंसाया जा रहा है, लेकिन लोकायुक्त पुलिस ने ड्रावर में रखें रुपयों को निकालकर पूछा तो कीनल कुछ नहीं बोल पाई। कीनल को लगा था कि नोटों पर लगा केमिकल इउसके हाथों पर नहीं लगा है, लेकिन वह यह भूल गई की नोट उसने अपनी ही ड्रावर में रखे थे। लोकायुक्त पुलिस ने रूपये अपने कब्जे में लेकर कीनल के खिलाफ रिश्वत लेने का मामला दर्ज कर लिया है। साथ ही पुलिस अब कीनल के पुराने केस भी चेक कर रही है।

ये रहे लोकायुक्त टीम में शामिल
कार्रवाई करने वाली टीम में टीआई. पीके चतुर्वेदी, एसआई शेलजा गुप्ता, एस आई रानीलता नामदेव, एस आई राजीव गुप्ता सहित 5 लोगों की टीम करैरा पहुंची थी।

यह भी पढ़े :
विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ?भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???