Patrika Hindi News

जीवाजी विश्व विद्यालय से नगर निगम ने मांगे 37 करोड़, यह है मामला

Updated: IST gwalior university
जेयू रजिस्ट्रार के अनुसार अचानक इतनी बड़ी राशि के लिए नोटिस बिना पूर्व जानकारी के भेजना समझ से परे हैं। वे इस मामले में निगमायुक्त अनय द्विवेदी को आपत्ति दर्ज कराएंगे।

ग्वालियर। जीवाजी यूनिवर्सिटी (जेयू) को नगर निगम ग्वालियर ने 37 करोड़ रुपए सम्पत्तिकर जमा करने का नोटिस जारी किया है। जेयू को यह राशि 15 दिन के अंदर जमा करनी है। जेयू रजिस्ट्रार डॉ.आनंद मिश्रा का कहना है कि अचानक इतनी बड़ी राशि का संपत्तिकर का बिल बिना पूर्व जानकारी के भेजना समझ से परे हैं। वे इस मामले में निगमायुक्त अनय द्विवेदी को आपत्ति दर्ज कराएंगे।

अधिकारियों का कहना है कि वर्ष 2005 में ननि ने जेयू को सम्पत्तिकर की राशि जमा करने के लिए नोटिस जारी किया था, लेकिन जेयू प्रबंधन द्वारा आपत्ति लगाने के बाद मामला ठंडा पड़ गया है। करीब दो माह पूर्व जबलपुर हाईकोर्ट के निर्णय के बाद स्वशासी संस्थाओं से संपत्तिकर वसूली मामले को हरी झंडी मिलने के बाद ननि ने सभी स्वशासी संस्थाओं को संपत्तिकर के नोटिस भेजने शुरू कर दिए हैं।

वर्ष 1997 से है बकाया
निगम ने जेयू को वर्ष 1997 से लेकर 2017 तक करीब 21 साल के बकाया का नोटिस भेजा है, जिसमें संपत्तिकर की मूल राशि के साथ ब्याज की राशि भी शामिल है। जेयू अधिकारियों का कहना है कि अगर ननि को संपत्तिकर लेने का अधिकार था, तो पहले सूचना देते, ताकि पेनल्टी से बचा जा सकता था। फिलहाल जेयू कमिश्नर को अपनी आपत्ति दर्ज कराएगा।

'हमें सम्पत्तिकर के मामले की पूर्व में कोई जानकारी नहीं दी गई है। अगर कोई नियम था तो हमें सूचित किया जाता। साथ ही संपत्तिकर कब से कब तक का है। किस दर से वसूला जा रहा है की जानकारी भी नहीं दी गई है। '
- डॉ.आनंद मिश्रा, कुलसचिव,जेयू

इधर, शासकीय संपत्ति पर बिना अनुमति विज्ञापन करने वालों पर जुर्माना
बिना अनुमति शासकीय संपत्ति पर विज्ञापन करने वाली चार संस्थाओं पर 2.19 लाख का अर्थदंड एसडीएम महिप तेजस्वी ने लगाया है। एसडीएम द्वारा केएस ग्रुप ऑफ कॉलेज गुढ़ा-गुढ़ी का नाका लश्कर ने जेयू की दीवार पर 100 वर्गफीट का विज्ञापन प्रचारित किए जाने पर एक लाख 11 हजार 480 रुपए, ग्राम मेहरा में शासकीय परेड में नजूल के नाम से दर्ज भूमि की दीवार पर डे-केयर झूलाघर बजरंग कॉलोनी जिला ग्वालियर द्वारा 9 वर्गफीट का विज्ञान प्रकाशित करने पर 9,960 रुपए, सुभाषचंद्र बोस कॉलेज गोविंदपुरी द्वारा मौसम विभाग उच्च स्तरीय शासकीय कार्यालय की दीवार पर 48 वर्गफीट का विज्ञापन लगाने पर साढ़े 53 हजार व डॉ. राज भिंडिया, सारथी स्मार्ट क्लासेस मयूर मार्केट ठाठीपुर द्वारा शासकीय परेड नजूल के नाम से अंकित दीवार पर स्मार्ट क्लासेस का विज्ञापन किए जाने पर साढ़े 44 हजार रुपए का अर्थदण्ड लगाया है। उक्त पक्षकारों को दस दिन के अंदर राशि जमा करनी होगी। राशि जमा न करने पर एक हजार प्रति दिन के मान से अतिरिक्त अर्थदंड लगेगा।

यह भी पढ़े :
विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???