Patrika Hindi News

महिलाओं पर अत्याचार रोकने का नया तरीका ढूंढा पुलिस ने, जानें कैसे रुकेंगे अपराध

Updated: IST Gwalior
डबरा थाने में महिला कार्यकर्ताओं को थाना प्रभारी ने बताए गुर। उन्हें निर्भय होकर महिलाओं के खिलाफ होने वाले अपराधों से अवगत कराने को कहा।

ग्वालियर गांवों में होने वाले अपराधों की सूचना पुलिस तक जल्दी कैसे पहुंचे इसके लिए पुलिस ने नया रास्ता अख्तियार किया है। इसके लिए पुलिस ने गांवों में कार्य करने वाली आशा, आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं तक पहुंच बनाई है। ये महिला कार्यकर्ता महिलाओं से जुड़े अपराधों की भनक लगते ही पुलिस को सूचित करेंगी। पुलिस तत्पर होकर ऐसे अपराधों को रोकने के लिए कार्य करेगी।

पुलिस थाना डबरा में समर्थ संगिनी योजना के तहत ग्रामीण क्षेत्र में काम करने वालीं आशा कार्यकर्ता, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता और सहायिकाओं की थाना प्रभारी रविन्द्र गुर्जर ओर सब इंस्पेक्टर बबीता जादौन ने बैठक ली। बताया गया कि गांवों में होने वाले अपराधों को छिपाएं नहीं और पुलिस को सूचना दें और जो महिलाएं अपने ऊपर होने वाले अत्याचारों को सामने नहीं लाती है उन्हें प्रेरित कर, समाज के सामने लाएं और पुलिस को बताए जिससे अपराध पर अंकुश लगेगा। कई बार पुलिस सीधे तौर पर वहां नहीं पहुंच पाती है। माह में बैठक होगी जिससे गांवों में होने वाली गतिविधियों पर चर्चा की जा सके। इस अवसर पर ब्लॉक की आशा, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता और सहायिकाएं शामिल थीं।

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं? निःशुल्क रजिस्टर करें ! - BharatMatrimony
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???