Patrika Hindi News

दो हजार परिवारों के सामने रोटी का संकट

Updated: IST Power disconnection instructions crusher
ग्वालियर.बिलौआ में क्रेशर का पट्टा आज से बंद हो जाएगा,इस इंडस्ट्री के बंद होने से क्षेत्र के लगभग दो हजार परिवार बेरोजगारी का संकट खड़ा हो गया है।

ग्वालियर. बिलौआ में क्रेशर का पट्टा आज से बंद हो जाएगा, इस इंडस्ट्री के बंद होने से क्षेत्र के लगभग दो हजार परिवार बेरोजगारी का संकट खड़ा हो गया है। साथ ही माइनिंग कार्पोरेशन की तीन लाख रुपए प्रतिदिन की आमदनी भी ठप हो जाएगी। दीवाली से पहले आए इस निर्णय से मजदूरों में निराशा है। हालांकि, क्रेशर संचालकों ने आपस में सहमति बनाकर पूरी सड़क को बनवा देने की बात कही है, लेकिन जब तक सड़क नहीं बनेगी, क्रेशर की गिट्टी लेकर जाने वाले ट्रकों के पहिए थमे रहेंगे।

गौरतलब है कि क्रेशर इंडस्ट्री और ओवर लोड वाहनों की मनमानी के कारण बिलौआ को राष्ट्रीय राजमार्ग से जोडऩे वाली पांच किलोमीटर की सड़क बेहद जर्जर हो गई है। इस सड़क को बनाने वाले ठेकेदार ने 2009 में ही अपने हाथ खड़े कर दिए थे। इस दौरान स्थानीय निवासी हरि बाबा और एक अन्य ने न्यायालय में याचिका दायर की थी। इसकी सुनवाई के बाद अब एनजीटी ने आदेश दिया है कि जब तक सड़क नहीं बनेगी, तब तक एक भी क्रैशर नहीं चल सकेगा। बता दें कि बिलौआ क्रैशर इंडस्ट्री में बनने वाली गिट्टी की मांग सबसे ज्यादा उत्तरप्रदेश में है, इसके साथ ही मध्यप्रदेश के विभिन्न शहरों में भी नगर निगम सीमा में मौजूद मऊ-जमाहर की गिट्टी के बाद बिलौआ की सबसे ज्यादा मांग है।

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ?भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???