Patrika Hindi News

मंत्री के निर्देश पर परियोजना अधिकारियों का तबादला

Updated: IST Project Officer transferred on minister
महिला एवं बाल विकास विभाग की मंत्री अर्चना चिटनिस बीते रोज श्योपुर जिले में कुपोषण को लेकर बैठक लेने पहुंचीं। यहां उन्होंने बैठक में अफसरों पर शिकंजा कसा तो अफसर हाथ खड़े करते हुए परियोजना अधिकारियों के पद खाली होने का राग अलपने लगे।

ग्वालियर. महिला एवं बाल विकास विभाग की मंत्री अर्चना चिटनिस बीते रोज श्योपुर जिले में कुपोषण को लेकर बैठक लेने पहुंचीं। यहां उन्होंने बैठक में अफसरों पर शिकंजा कसा तो अफसर हाथ खड़े करते हुए परियोजना अधिकारियों के पद खाली होने का राग अलपने लगे। मंत्री चिटनिस ने तत्काल भोपाल में विभागीय अफसरों से बात की और ग्वालियर से तीन व मुरैना से एक अधिकारी का तबादला के आदेश जारी करा दिए। एेसा ही फेरबदल कुछ साल पहले भी हुआ था जिसमें तत्कालीन आयुक्त मनोहर अगनानी ने ग्वालियर व मुरैना सहित अन्य जिलों से 10-12 सुपरवाइजरों के श्योपुर भेजा था। इसके बाद यह सुपरवाइजर श्योपुर से दूरी बनाते हएु कुछ ही समय बाद पुन: मनचाही जगह पर स्थानांतरित होने में सफल हो गए।
दरअसल श्योपुर जिला महिला एवं बाल विकास विभाग के अफसरों के लिए असुरक्षित माना जाता है। यह जिले में कुपोषित बच्चों का ग्राफ अच्छा खास है। पिछड़े एवं दूरदराज क्षेत्रों के बच्चों का स्वास्थ्य परीक्षण कराने पर हर बार कुपोषित बच्चों के आंकड़े अधिक रहते हैं। एेसी स्थिति से निपटने के लिए सरकार स्तर पर ठोस कदम बनाए जाने से पहले ही महिला एवं बाल विकास विभाग के अधिकारी व सुपरवाइजर डेंजर जोन से बाहर निकलने का गणित बैठा लेते हैं। राजनीतिक आकाओं के सहारे ये जिले से दूरी बनाने में सफल हो जाते हैं।
सोमवार को मंत्री चिटनिस ने बैठक लेते हुए विश्राम गृह से ही कुछ ही मिनटों में ग्वालियर शहरी परियोजना 5 में पदस्थ परियोजना अधिकारी देवेंद्र साहू, शहरी परियोजना 2 में पदस्थ परियोजना अधिकारी विजय कुमार जैन और मुरैना जिले के सबलगढ़ में पदस्थ परियोजना अधिकारी आरके दीक्षित का स्थानातंरण आदेश जारी कराया। इसी तरह करीब चार से पांच साल पहले तात्कालीन आयुक्त अगनानी ने ग्वालियर सहित अन्य जिलों से एक दर्जन से अधिक सुपरवाइजरों को स्थानांतरण किया था। यह सुपरवाइजर दो साल की सेवा पूरी होने से पहले श्योपुर जिले से दूरी बना चुके हैं।

अपने विवाह के सपने को भारत मैट्रीमोनी पर साकार करे।- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करे!
LIVE CRICKET SCORE
Patrika.com

लेटेस्ट ख़बरें ई-मेल पर पाने के लिए सब्सक्राइब करें

Dus ka Dum
Ad Block is Banned Click here to refresh the page

???? ??????? ?? ??? ???? ????? ???